1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सचिन ने मां को दी किताब

सचिन ने अपनी आत्मकथा की पहली प्रति अपनी मां को भेंट की है. किताब भले ही सचिन के जीवन पर केंद्रित हो पर सोशल मीडिया में चर्चा का विषय ग्रेग चैपल के साथ उनका विवाद बन गया है.

सचिन की किताब "प्लेइंग इट माय वे" गुरुवार को लॉन्च की हो रही है. एक दिन पहले अपनी मां के साथ तस्वीर ट्वीट कर सचिन ने लिखा है कि उनके चेहरे पर गर्व का जो भाव था, वह अनमोल है.

सचिन अपनी किताब को प्रोमोट करने की हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं. यूट्यूब पर वीडियो के जरिए भी वह इसे लोगों तक पहुंचाने की कोशिश में लगे हैं. वहीं अनिल कुंबले ने सचिन को ट्वीट कर के कहा है कि आईसीसी की बैठक के कारण वह बुक लॉन्च में हिस्सा नहीं ले पाएंगे. उन्होंने लिखा है कि सचिन का सचिन के बारे में क्या सोचना है, यह पढ़ना मजेदार होगा.

सचिन ने अपनी किताब में भारतीय टीम के पूर्व कोच ग्रेग चैपल के बारे में भी विस्तार से लिखा है. उनका चैपल को रिंगमास्टर कहना और यह खुलासा करना कि चैपल 2007 के वर्ल्ड कप से पहले उन्हें कप्तान बनाना चाहते थे, इस पर ट्विटर पर मिली जुली प्रतिक्रिया मिल रही है. अभिनेता रोहित रॉय ने लिखा है कि उन्हें पूरा भरोसा था कि ग्रेग चैपल भारतीय क्रिकेट का सबसे बुरा दौर था और अब सचिन की किताब ने इसकी पुष्टि कर दी है.

वहीं कई लोग इसे एक पब्लिसिटी स्टंट के रूप में भी देख रहे हैं. ट्विटर पर ऐसी टिप्पणियों की कमी नहीं है जिनमें कहा जा रहा है कि अगर सचिन वाकई कुछ करना चाहते तो पहले ही अपनी आवाज उठाते. इस बात पर भी फब्तियां कसी जा रही हैं कि सचिन मैच फिक्सिंग के बारे में क्यों कुछ नहीं बोल रहे हैं.

सचिन तेंदुलकर की किताब "प्लेइंग इट माय वे" के लॉन्च में भले ही कुछ घंटे बचे हों, उनके चाहने वाले अभी से इसे अमेजन पर बुक कर सकते हैं.


DW.COM