1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सचिन नंबर वन बने, पर कालिस भी हैं

दुनिया के महानतम बल्लेबाजों में गिने जाने वाले भारत के सचिन तेंदुलकर आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में पहले नंबर के बल्लेबाज बन गए हैं. वह लंबे वक्त बाद इस मुकाम पर आए, लेकिन कालिस को पीछे न छोड़ पाए.

default

सचिन तेंदुलकर ने दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर 81.5 के औसत से 326 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने दो बार शतक लगाया और अपने शतकों की संख्या 50 के पार पहुंचा दी. उन्होंने एक बार 146 रनों की पारी भी खेली.

लेकिन पूरी सीरीज कालिस के नाम रही, जिन्होंने तीन बार शतक लगाया. इसमें एक दोहरा शतक भी शामिल है. उन्होंने सेंचुरियन में खेले गए पहले टेस्ट में 201 रन की पारी खेली, जिसकी मदद से दक्षिण अफ्रीका सीरीज में एकमात्र जीत

Kricket Jacque Kallis

हासिल कर पाया. उन्होंने केपटाउन टेस्ट में दोनों पारियों में सेंचुरी लगाई और इस तरह उनके शतकों की संख्या 40 हो गई है, जो सिर्फ सचिन तेंदुलकर के बाद है. कालिस ने 166 की औसत से तीन टेस्ट मैचों में 498 रन बनाए.

इन दोनों खिलाड़ियों के लाजवाब खेल ने उन्हें संयुक्त रूप से दुनिया का पहले नंबर का बल्लेबाज बना दिया है. आईसीसी की ओर से जारी रैंकिंग में दोनों के पास 883 अंक हैं और वे पहले नंबर पर हैं. श्रीलंका के कप्तान कुमार संगकारा के पास इनसे एक अंक कम है.

यह 10वां मौका है, जब भारत के सचिन तेंदुलकर ने पहले नंबर पर जगह बनाई है. उन्होंने पहली बार 16 साल पहले 1994 में यह रुतबा हासिल किया था, जब वह सिर्फ 33 टेस्ट मैच खेले थे. अब तक उन्होंने 175 से ज्यादा टेस्ट खेल लिए हैं.

दक्षिण अफ्रीका में नाकाम रहे भारत के तूफानी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग को दो पायदान का नुकसान हुआ है और वह छठे नंबर पर चले गए हैं, जबकि वीवीएस लक्ष्मण अपने नौवें नंबर पर बरकरार हैं.

गौतम गंभीर ने दक्षिण अफ्रीका में अच्छा प्रदर्शन किया है और इसके साथ ही वह चोटी के 20 खिलाड़ियों में शामिल हो गए हैं. वह 15वें नंबर पर हैं, जबकि गेंदबाजों में सिर्फ हरभजन सिंह को ही शीर्ष 10 में जगह मिल पाई है. भज्जी आठवें स्थान पर हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links