1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सचिन की वनडे टीम में वापसी

लगभग एक साल के बाद सचिन तेंदुलकर की भारत की वनडे टीम में वापसी हो रही है. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ऐतिहासिक 200 रन की पारी के बाद सचिन ने रंगीन जर्सी नहीं पहनी है. वापसी ऐसे वक्त, जब भारत वर्ल्ड कप की तैयारी कर रहा है.

default

यह बात भी दिलचस्प ही है कि सचिन उसी टीम के खिलाफ वनडे टीम में लौट रहे हैं जिसके खिलाफ उन्होंने 24 फरवरी, 2010 को नाबाद 200 रन बना कर पूरे क्रिकेट जगत को अचंभित कर दिया. उस मैच के बाद सचिन ने भारत के लिए वनडे मैच नहीं खेले हैं.

Sachin Tendulkar

फरवरी से भारतीय उप महाद्वीप में वनडे वर्ल्ड कप खेला जाना है और सचिन तेंदुलकर के लिए यह उनके सपनों में एक है. उसके ठीक पहले सचिन ने टीम में लौटने का फैसला किया है, ताकि वर्ल्ड कप की तैयारियां तेज की जा सके. दक्षिण अफ्रीका सीरीज के बाद भारत को सीधे वर्ल्ड कप में ही हिस्सा लेना है. सचिन ने रविवार को सेंचुरियन ग्राउंड पर अपने टेस्ट क्रिकेट का 50वां शतक जड़ कर इतिहास रच दिया है.

37 साल के तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर को इस तरीके से ढाला है, जिसमें वह वनडे और टेस्ट मैच दोनों तरह के क्रिकेट खेलते रहें. चोट की वजह से वह इस साल कई महीने वनडे क्रिकेट से अलग रहे.

भारत ने दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गई टीम के लिए पूरे 16 खिलाड़ियों का एलान कर दिया है. इसमें पीयूष चावला की टीम में वापसी हो गई है, जबकि कप्तान के तौर पर महेंद्र सिंह धोनी को वापस बुला लिया गया है. धोनी ने टीम इंडिया को हाल के दिनों में शानदार सफलता दिलाई है. हालांकि न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज के लिए धोनी और सचिन सहित पांच वरिष्ठ खिलाड़ियों को आराम दिया गया था.

धोनी की गैरमौजूदगी में सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने टीम की कप्तानी की और न्यूजीलैंड को 5-0 से शिकस्त दी. इसके बाद क्रिकेट पंडितों का कहना है कि भारत की दूसरी पंक्ति की टीम भी अंतरराष्ट्रीय स्तर की हो गई है.

दक्षिण अफ्रीका में खेले जाने वाले पांच वनडे मैचों के लिए टीम इस प्रकार हैः

महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), वीरेंद्र सहवाग, सचिन तेंदुलकर, गौतम गंभीर, विराट कोहली, सुरेश रैना, युवराज सिंह, हरभजन सिंह, जहीर खान, आशीष नेहरा, प्रवीण कुमार, मुनाफ पटेल, आर अश्विन, यूसुफ पठान, पीयूष चावला, एस श्रीसंत.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री