1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सचिन की आड़ में हसी भी संन्यास न लेने पर अड़े

सचिन तेंदुलकर की सफलता और उम्र के हवाला देते हुए ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज माइकल हसी ने संन्यास की संभावनाओं को खारिज कर दिया है. हसी के ऊपर संन्यास लेने के दवाब बन रहा है और वह सचिन का नाम लेकर आलोचकों को जवाब दे रहे हैं.

default

ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ बल्लेबाज माइकल हसी 35 साल के हो चुके हैं. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के कुछ अधिकारियों का कहना है कि उम्रदराज हो चुके हसी को अब टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लेना चाहिए. टेस्ट टीम में उन्हें जगह देने पर भी बहस होने लगी है. इन आलोचनाओं को जवाब देने के लिए हसी ने सचिन तेंदुलकर के नाम का ब्रह्मास्त्र निकाला है.

हसी के मुताबिक 37 साल के तेंदुलकर को छठी बार दोहरा शतक जड़ते हुए देख उन्हें प्रेरणा मिली है. हसी के मुताबिक, ''सचिन के प्रदर्शन से मैं प्रेरित हुआ हूं.'' 54 टेस्ट मैचों में 11 शतक और 21 अर्धशतक जड़ने वाले हसी ऑस्ट्रेलियाई टीम की जान हैं. लेकिन टीम के खराब प्रदर्शन की मार उन पर पड़ रही है. अधिकारी चाहते हैं कि टीम में युवा चेहरों को लाया जाए ताकि उन्हें जल्द से जल्द अनुभव मिले.

लेकिन मैदान पर विपक्षी टीम के सामने सीना तानकर खड़े होने वाले हसी आलोचकों का सामना भी डट कर रह हैं. अपने ही साथी खिलाड़ियों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, ''स्टीव वॉ ने 30 की उम्र पार करने के वाबजूद काफी क्रिकेट खेला. मैथ्यू हेडेन और जस्टिन लेंगर ने भी उम्रदराज होने के बावजूद अच्छा खेल दिखाया. इसलिए मुझे भी नहीं लगता है कि उम्र मायने रखती है. खेल का मतलब है कि क्या आप जंग के लिए तैयार हैं, क्या आप चुनौती के बीच में खेल का लुत्फ उठा सकते हैं.''

ऑस्ट्रेलियाई टीम का सामना जल्द ही इंग्लैंड से होना है. एशेज सीरीज के पहले मैच में 25 नवंबर से ब्रिसबेन में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की टक्कर होनी है. माना जा रहा है कि एशेज सीरीज कई सीनियर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के लिए प्रतिष्ठा का सवाल होगी. खराब प्रदर्शन होने पर टीम में बड़े बदलाव होने तय बताए जा रहे हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा एम

DW.COM

WWW-Links