1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सऊदी अरब में महिलाओं को मिला ड्राइविंग का अधिकार

सऊदी अरब की महिलायें भी अब गाड़ी चला सकेंगी. सरकारी मीडिया के मुताबिक देश में महिलाओं को ड्राइविंग का अधिकार दे दिया गया है. अब तक यहां महिलाओं को गाड़ी चलाने की अनुमति नहीं थी.

सऊदी अरब की सरकारी मीडिया एजेंसी ने एक शाही फरमान का हवाला देते हुए कहा है कि अब देश में महिलायें भी ड्राइविंग कर सकेंगी. मीडिया के मु्ताबिक इस फैसले में ट्रैफिक नियमों के कई प्रावधानों को लागू किया जाएगा, जिसमें महिलाओं और पुरुषों के लिए एक जैसे ड्राइविंग लाइसेंस जारी करना शामिल है. सऊदी अरब में महिलाओं पर कई तरह की पाबंदियां हैं. सामाजिक कार्यकर्ता यहां महिलाओं को ड्राइविंग का अधिकार दिलाने के लिए लंबे समय से अभियान चला रहे थे.

मीडिया के मुताबिक, इस आदेश में मंत्री स्तर पर एक समिति का गठन करने की बात कही गई है जो 30 दिन के भीतर अपने सुझाव पेश करेगी जिसके बाद जून 2018 तक इस आदेश को लागू किया जाएगा. सऊदी अरब में शिक्षा और न्यायपालिका में मौलवियों का खासा दखल है. ये मौलवी कहते रहे हैं कि महिलाओं के गाड़ी चलाने से समाज भ्रष्ट हो जायेगा और पाप की ओर बढ़ेगा. देश के पुरूष संरक्षणवादी समाज में महिलाओं को पढ़ने या यात्रा करने के लिए परिवार के पुरूष सदस्यों की अनुमति अनिवार्य रूप से लेनी होती है.

सऊदी अरब के वॉशिंगटन में राजदूत और राजा सलमान के बेटे राजकुमार खालिद बिन सलमान के मुताबिक, "नये कानून में महिलाओं को ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने के लिए परिवार के किसी पुरूष सदस्य से अनुमति की आवश्यकता नहीं होगी." उन्होंने कहा "ऐसा फैसला लेने का यह सही वक्त है और यह आगे बढ़ने की दिशा में उठाया गया एक कदम है जिसके लिए सऊदी समाज भी तैयार है."

सऊदी अरब, क्रॉउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के विजन 2030 एजेंडे को लागू करने के लिए भविष्य में दूसरे आर्थिक और सामाजिक सुधारों को भी लागू कर सकता है. अमेरिका ने सऊदी अरब के इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा है, "यह देश को सही दिशा में ले जाने के लिए बेहतरीन कदम है."

एए/एनआर (डीपीए, एपी)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री