1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सऊदी अरब में महिलाओं को नौकरी दिलायेगी ये वेबसाइट

महिलाओं पर पाबंदियों के सिलसिले में अकसर सऊदी अरब का जिक्र आता है. लेकिन अब कुछ नयी कोशिशें भी हो रही हैं. एक अल्जीरियाई इंजीनियर ने ऐसी वेबसाइट बनायी है जिससे सऊदी अरब में महिलाओं के लिए नौकरी तलाशना आसान होगा.

23 वर्षीय नाजिया देरिशे का जन्म ऑस्ट्रेलिया में हुआ लेकिन उनकी परवरिश सऊदी अरब में हुई. पिछले साल जब सिडनी में उनकी मास्टर्स की पढ़ाई पूरी हुई तो उन्होंने और उनकी दोस्तों ने महसूस किया है कि सऊदी अरब में महिलाओं के लिए नौकरी तलाशना बहुत मुश्किल है.

देरिशे कहती हैं, "सऊदी अरब में ज्यादातर नौकरियों के विज्ञापन पुरूषों के लिए ही होते हैं और नौकरियों में पुरूषों का ही दबदबा है. तो मुझे लगा कि समस्या है. एक तरह की खाई है." इसीलिए उन्होंने मार्च 2017 में एक वेबसाइट शुरू की जिसका नाम है अलअजनबिया. अरबी भाषा में इसका अर्थ होता है विदेशी. इस वेबसाइट का मकसद नौकरी पेशा लोगों के बीच महिलाओं की नुमांइदगी को बढ़ाना है. ये वेबसाइट नौकरी तलाश रही महिलाओं को कंपनियों से जोड़ कर इस समस्या को दूर करना चाहती है.

वेबसाइट का नाम विदेशी रखने का कारण बताते हुए देरिशे कहती हैं कि सऊदी अरब में महिलाओं का काम करना एक तरह से विदेशी बात ही है. खुद देरिशे अभी दुबई में काम कर रही हैं क्योंकि उन्हें अपने फील्ड की नौकरी सऊदी अरब में नहीं मिली.

महिला अधिकारों के मामले में सऊदी अरब को दुनिया के सबसे पिछड़े देशों में गिना जाता है. वहां महिलाएं जिंदगी भर किसी न किसी पुरूष की  निगरानी में रहती हैं. वे कार नहीं चला सकती हैं और सार्वजनिक जगहों पर उन्हें ऊपर से लेकर नीचे तक अपने शरीर को काले कपड़े में ढंकना होता है.

लेकिन अब सऊदी अरब भी बदल रहा है. तेल पर निर्भरता कम करने के लिए देश की अर्थव्यवस्था में विविधता लायी जा रही है. इसके लिए तैयार विजन2030 के तहत कामकाजी लोगों में महिलाओं की हिस्सेदारी 22 प्रतिशत से बढ़ाकर 30 प्रतिशत करने का लक्ष्य तय किया गया है.

सऊदी अरब में महिलाएं होटल और खुदरा क्षेत्र में कुछ नौकरियां कर सकती हैं. इसी साल सऊदी अरब स्टॉक एक्सचेंज ने सारा अल सुहैमी के रूप में अपनी पहली महिला अध्यक्ष को नियुक्त किया है. देरिशे का कहना है कि उन्होंने और उनकी दोस्तों ने देखा कि महिलाओं के रोजगार को लेकर मुख्य समस्या कम अवसर नहीं हैं बल्कि उनका खराब तरीके से विज्ञापन करना भी है.

देरिशे कहती हैं कि वह 40 कंपनियों के साथ मिल कर काम कर रही हैं और उनकी वेबसाइट बनने के बाद से उस पर एक हजार लोगों ने अपने रेज्यूमे अपलोड किये हैं और उनकी तादाद बढ़ती ही जा रही है. इस वेबसाइट पर नौकरी खोजने वाले अपने बारे में बता सकते हैं और कंपनी अपने विज्ञापन दे सकती हैं और संभावित महिला कर्मचारियों के बारे में जानकारी हासिल कर सकती हैं.

देरिशे कहती हैं, "हम प्रतियोगिता के लिए एक अच्छा माहौल बना रहे हैं जहां लोगों को उनकी काबलियत, योग्यता और दक्षता के आधार पर नौकरी मिले, न कि जान पहचान और सिफारिश के आधार पर."

एके/एनआर (रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री