सऊदी अरब में अब फैशन शो भी होगा | दुनिया | DW | 20.02.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सऊदी अरब में अब फैशन शो भी होगा

सऊदी अरब ने इसी साल मार्च में अपने पहले अरब फैशन वीक की तैयारी कर ली है. सोमवार को बकायदा इसका एलान हुआ. सऊदी अरब में दशकों से कला और मनोरंजन पर लगी पाबंदियों की बेड़ियां टूट रही हैं.

सऊदी राजसत्ता के ताकतवर क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने सुधारों के घोड़े दौड़ा दिए हैं जिनका मकसद है देश की अर्थव्यवस्था की तेल पर निर्भरता को कम करना और निजी क्षेत्र का विस्तार करने के साथ ही महिलाओं का सशक्तिकरण करना. दुबई की अरब फैशन परिषद ने अपनी वेबसाइट पर कहा है कि यह फैशन वीक रियाद में 26 मार्च से 31 मार्च तक चलेगा जिसके दूसरे संस्करण के लिए पहले से ही अक्टूबर का समय निश्चित किया गया है. अरब फैशन वीक रियाद के इकोफ्रेंडली एपेक्स सेंटर में होगा. मधुमक्खी के छत्ते जैसे सफेद सेंटर की आकृति को मशहूर इराकी ब्रिटिश आर्किटेक्ट जाहा हदीद ने डिजाइन किया था.

दिसंबर में अरब फैशन परिषद ने रियाद में क्षेत्रीय दफ्तर खोलने का एलान किया और सउदी राजकुमारी नूरा बिंत फैसल अल सउद को अपना मानद अध्यक्ष नियुक्त किया. परिषद की वेबसाइट पर जारी एक बयान में राजकुमारी नूरा ने कहा है, "रियाद में पहला फैशन वीक एक विश्व स्तर का आयोजन होगा. यह एक उत्प्रेरक है जिसके जरिए हम उम्मीद करते हैं कि फैशन सेक्टर दूसरे आर्थिक सेक्टरों जैसे पर्यटन, आतिथ्य, यात्रा और व्यापार का नेतृत्व करेगा."

पेरिस और मिलान के साथ ही साल में दो बार होने वाले फैशन वीक में खासतौर से नए कलेक्शन और पिछले कलेक्शन दिखाए जाएंगे. अभी यह नहीं बताया गया है कि क्या डिजायनों पर सउदी अरब में जारी पहनावे की बंदिशें लागू रहेंगी या नहीं. सऊदी अरब में महिलाओं को कपड़ों के मामले में बेहद सख्त पाबंदियों का पालन करना पड़ता है. उन्हें कानूनी रूप से अबाया नाम की पोशाक पहननी होती है. यह एक बेहद ढीली पोशाक है जो पूरे शरीर को ढंक कर रखती है. इस महीने की शुरुआत में एक वरिष्ठ सउदी मौलाना ने कहा था कि सऊदी महिलाओं को "अबाया पहनने के लिए बाध्य" नहीं किया जाना चाहिए. बयान देने वाले शेख अब्दुल्ला अल मुतालक सउदी अरब की शीर्ष धार्मिक संस्था काउंसिल ऑफ स्कॉलर्स के सदस्य हैं. हालांकि सरकार ने अब तक यह नहीं कहा है कि वह कानून बदलेगी या नहीं.

क्राउन प्रिंस मोहम्मद सलमान ने बीते बीते महीनों में महिलाओँ के हक में कई सुधारों को लागू किया है. जनवरी में सऊदी महिलाओं को पहली बार स्टेडियम में मैच देखने की इजाजत दी गई. इसके साथ ही कई नौकरियों में भी महिलाओं के लिए दरवाजे खोले गए हैं. सऊदी अरब ने महिलाओँ की ड्राइविंग पर लगी रोक भी खत्म कर दी है जो इस साल जून से लागू हो जाएगी.

अब से पहले अरब फैशन वीक का आयोजन केवल दुबई में होता आया है. दुबई अपना फैशन वीक पहले की तरह ही जारी रखेगा. इस साल इसकी तारीख 9 मई से 12 मई रखी गई है.

एनआर/एके (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री