1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

'संवेदनशील बने पुलिस'

भारत में 600 गिटार वादकों को ने भावभीनी धुनें छेड़ बलात्कार का शिकार हुई छात्रा को श्रद्धाजंलि दी. महिलाओं की सुरक्षा को लेकर शुक्रवार को दिल्ली में सभी राज्यों को शीर्ष अधिकारी भी मिल रहे हैं.

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को सभी राज्यों के पुलिस महानिदेशकों और मुख्य सचिवों को दिल्ली बुलाया. बैठक की अगुवाई केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह करेंगे. सिंह पहले ही कह चुके हैं कि बैठक में महिलाओं की सुरक्षा और पुलिस को ज्यादा संवेदनशील बनाने पर चर्चा होगी.

इस बीच दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में अब भी विरोध प्रदर्शन और श्रद्धाजंलि सभाएं हो रही है. गुरुवार को दार्जिलिंग की वादियों में 600 गिटार वादकों ने भावभीनी धुनें छेड़कर 23 साल की छात्रा को श्रद्धाजंलि दी.

पूर्वी भारत के हिल स्टेशन दार्जिलिंग में संगीत मेले के दौरान कई बैंडों के गिटार वादक एक साथ आए. उन्होंने मशहूर गायक और लेखक जॉन लेनन का 42 साल पुराना गीत निकाला. 'होप, पीस एंड प्रॉमिस' गाने की धुन को खास तौर पर चुना गया था.

दार्जिलिंग की पर्यटन सचिव सोनम भूटिया के मुताबिक, "यह गाना इसलिए चुना गया क्योंकि यह आशा, शांति और वादे की बात करता है. गाना बहुत प्रोत्साहित करने वाला है. यह बिना किसी सीमा के ब्रह्मांड की बात करता है. श्रद्धाजंलि के जरिए हम यह बताना चाहते हैं कि असीम दुख की इस घड़ी में हम पीड़ित के साथ हैं."

दिल्ली में 16 दिसंबर की रात 23 साल की छात्रा से छह युवकों ने चलती बस में सामूहिक बलात्कार किया. बलात्कार के बाद उस पर अमानवीय हमला किया गया. छात्रा और उसके पुरुष मित्र को निर्वस्त्र कर रास्ते में फेंक दिया गया. 29 दिसंबर को सिंगापुर के अस्पताल में पीड़ित की मौत हो गई.

Indien Gericht in Neu Delhi Anklage Gericht Demonstration

दिल्ली में जिला अदालत के बाहर प्रदर्शन

इस घटना के बाद भारत में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर लोगों को गुस्सा फूट पड़ा है. दुनिया भर के अखबार और टीवी चैनल भी लगातार भारत में महिलाओं की दशा पर चर्चा कर रहे हैं. सरकार कड़ा कानून बनाने की तैयारी कर रही है. साथ ही बहस गिरते नैतिक मूल्यों पर भी हो रही है.

गुरुवार को दिल्ली में पुलिस ने पांच आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर कर दिया. छठा आरोपी नाबालिग है, लिहाजा उसके खिलाफ नाबालिग जस्टिस बोर्ड में कार्रवाई होगी. फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामले की पांच जनवरी 2013 से नियमित सुनवाई होगी.

दिल्ली में जंतर मंतर पर 11 दिन से कई लोग भूख हड़ताल पर बैठे हैं. अनशन पर बैठे लोगों का कहना है कि जब तक सरकार कड़ा कानून नहीं लाएगी, वो खाना नहीं खाएंगे.

ओएसजे/एनआर (एएफपी, पीटीआई)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री