1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

संपत्ति सार्वजनिक करेंगे बिहार के अधिकारी

बिहार के सभी सरकारी अधिकारियों को अब अपनी संपत्ति का ब्यौरा सार्वजनिक करना होगा. नीतीश कुमार सरकार के फैसले के बाद बिहार के सरकारी अफसरों को 31 जनवरी से पहले जनता को बताना होगा कि उनकी संपत्ति कितनी है.

default

सरकारी आदेश के मुताबिक अधिकारियों को बिहार सरकार के मंत्रियों की तरह ही अपनी संपत्ति का ब्यौरा देना होगा. इस ब्यौरे में चल और अचल दोनों तरह की संपत्तियों का हिसाब देना होगा. अधिकारियों को अपने बच्चों की जानकारी और उनसे जुड़ी संपत्ति की जानकारी भी सार्वजनिक करनी होगी.

राज्य सरकार के फैसले की जानकारी देते हुए एक सूत्र ने कहा, ''जिन अधिकारियों की संपत्ति उनकी तनख्वाह से मेल नहीं खाएगी, उन्हें देखा जाएगा.'' माना जा रहा है कि सरकार की इस कोशिश से भ्रष्ट अधिकारियों को मुश्किल होगी. लगातार दूसरी बार बिहार के मुख्यमंत्री बनने वाले नीतीश कुमार को राज्य में अच्छे काम काज के लिए जाना जाता है.

बिहार में बीते पांच सालों में कानून व्यवस्था और सड़कें काफी बेहतर हुई हैं. दूसरी पारी में नीतीश भ्रष्टाचार को कुचलने से शुरुआत कर रहे हैं. इसकी पहला असर सीधे उनके मंत्रियों पर ही पड़ा. बिहार के सभी मंत्री 31 दिसंबर को ही अपनी संपत्ति का ब्यौरा सरकार को थमा चुके हैं. नीतीश के मुताबिक इन कोशिशों से जनता और सरकार के बीच में पारदर्शिता आएगी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links