1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

संन्यास के बारे नहीं सोच रहे पोंटिंग

रिकी पोंटिंग ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी के सबसे खराब रिकॉर्ड से सिर्फ एक हार दूर हैं. लेकिन वह किसी भी सूरत में रिटायरमेंट के बारे में के बारे में नहीं सोच रहे हैं.

default

अगर ऑस्ट्रेलिया एशेज सीरीज में एक और टेस्ट मैच हार जाता है तो 120 साल के इतिहास में रिकी पोंटिंग पहले ऐसे कप्तान होंगे जिसने तीन एशेज सीरीज गंवाई. 19 दिसंबर को 36 साल के होने जा रहे पोंटिंग अपनी बैटिंग फॉर्म से भी जूझ रहे हैं. लेकिन रिटायरमेंट की बात उनके ख्यालों में भी नहीं है. द ऑस्ट्रेलियन अखबार में अपने कॉलम में पोंटिंग ने शनिवार को लिखा, "अपनी रिटायरमेंट का ख्याल मेरे जहन में एक पल को भी नहीं आया. कप्तान के रूप में मेरे भविष्य का फैसला तो क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के हाथ में है. और बेशक ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट का भविष्य सबसे पहले देखा जाना चाहिए."

एक टेस्ट हार चुकी ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान पोंटिंग का ध्यान अब आने वाले तीन मैचों पर लगा है. उन्होंने लिखा, "मेरा पूरा ध्यान उन चीजों पर है जिन पर मेरा बस चल सकता है. पर्थ, मेलबर्न और फिर सिडनी तीनों टेस्ट में बढ़िया प्रदर्शन करने के लिए मैं खुद को और अपनी टीम को तैयार कर रहा हूं."

पोंटिंग कहते हैं कि उन्हें खुद पर पूरा भरोसा है. उन्होंने कहा, "एक बल्लेबाज के तौर पर अपनी रन बनाने का काबिलियत पर मुझे पूरा भरोसा है. और साथ ही अपनी नेतृत्व क्षमता पर भी."

पोंटिंग ने माना है कि कप्तान होने के नाते टीम के प्रदर्शन के लिए वह जवाबदेह हैं और हाल ही के नतीजों ने उनके आलोचकों की तादाद बढ़ाई है. लेकिन वह फिलहाल टीम के बारे में सोच रहे हैं. वह लिखते हैं, "मेरी प्राथमिकता मेरी टीम है, मेरा अहं नहीं."

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्वीकार करते हैं कि अब तक सीरीज में इंग्लैंड की टीम ही हावी रही है. उन्होंने लिखा है, "हम बहुत खराब खेले हैं. जैसा मैं चाहता हूं वैसा मैं नहीं खेला. खासतौर पर एडिलेड में. लेकिन मुझे नहीं लगता है कि बहुत दूर हैं."

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links