1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

'संघ के आतंकी रिश्तों से ध्यान भटकाने की कोशिश'

बीजेपी के हमलों पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने कहा कि आरएसएस नेताओं के आतंकवादी हमलों में शामिल होने की बात से ध्यान हटाने के लिए ही बीजेपी ऐसे बयान दे रही है. कांग्रेस के मुताबिक बीजेपी 23 साल पुराना राग दोहरा रही है.

default

बीजेपी के सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह को निशाना बनाए जाने पर कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, "ये सब जानबूझकर हो रहा है. वो भी ऐसे समय में जब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के आतंकवाद में लिप्त होने के दस्तावेजी सबूत मिल रहे हैं."

भारतीय जनता पार्टी के लगाए गए आरोपों को सच के साथ खिलवाड़ करार देते हुए सिंघवी ने कहा कि बीजेपी भूल जाती है कि कोर्ट भी कह चुकी है कि राजीव गांधी पर आरोप नहीं लगाए जाने चाहिए.

"बीजेपी बोफोर्स के बारे में बात करती है लेकिन 2004 में आए हाई कोर्ट के फैसले को भूल जाती है. उसमें एनडीए सरकार को साफ शब्दों में बता दिया गया कि राजीव गांधी पर तो आरोप भी नहीं लगने चाहिए. पिछले 23 साल में कांग्रेस या फिर राजीव गांधी के खिलाफ जरा भी सबूत नहीं मिले हैं." सिंघवी ने कहा कि विन चढ्ढा, हिंदुजा और क्वात्रोकी के खिलाफ कानून के दायरे में जो कार्रवाई हुई है उस पर पार्टी को कुछ नहीं कहना है.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को निशाना बनाए जाने पर कांग्रेस भी आक्रामक मुद्रा में आ गई है. कांग्रेस ने बीजेपी को सपनों में खोई पार्टी करार दिया है. "इस ग्रह पर बीजेपी नेता उन बेहद कम लोगों में शामिल हैं जो ये सोच सकते हैं कि 2जी स्पेक्ट्रम मामले में प्रधानमंत्री कार्यालय भी किसी रूप में शामिल है."

सिंघवी के मुताबिक विपक्षी पार्टी के आरोप दिखाते हैं कि वो हार को पचाने में नाकाम रही है. "2004 में हुई करारी हार को बीजेपी स्वीकार नहीं कर पाई और फिर 2009 में हार हो गई. अब वे फिर से 23 साल पुराना राग दोहराने लगे हैं."

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: महेश झा