1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

संकट से बचने के लिए ज्यादा बच्चे पैदा करो

रूस के राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने देशवासियों से अपील में कहा है कि उन्हें ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करने चाहिए. मेदवेदेव के मुताबिक रूस जनसंख्या परिवर्तन से जूझ रहा है और इससे निपटने के लिए बड़े परिवारों की जरूरत.

default

संसद के दोनों सदनों को संबोधित करते हुए मेदवेदेव ने कहा कि वह अपने भाषण का केंद्र बिंदु बच्चों को बनाना चाहते हैं. युवाओं में निवेश करना, सबसे बेहतर, समझदारी भरा और सुरक्षित निवेश होता है. राजनीतिक विश्लेषक मान कर चल रहे थे कि अपने संबोधन में मेदवेदेव सुधारों की घोषणा करेंगे लेकिन ऐसा हुआ नहीं. मेदवेदेव ने बड़े परिवारों को प्रोत्साहन देने और बच्चों में निवेश करने की बात दोहराई. ""
मेदवेदेव ने कहा कि जनसंख्या अनुपात में परिवर्तन किसी भी देश के लिए खतरे की घंटी होती है. मेदवेदेव ने अपनी प्राथमिकताएं स्पष्ट करते हुए कहा कि ऐसे परिवारों की संख्या बढ़नी चाहिए जिनके पास तीन या फिर ज्यादा बच्चे हैं. अपनी अपील को तर्क का जामा पहनाने की कोशिश में मेदवेदेव यहां तक कह गए कि अंतरिक्ष में पहला व्यक्ति यूरी गागरिन और महान लेखक एंटोन चेखोव अपने परिवारों के तीसरे बच्चे थे.

रूसी राष्ट्रपति बड़े परिवारों को प्रोत्साहित करने के लिए बड़ी योजनाओं की घोषणा कर चुकी है. बड़े परिवारों को मकान बनाने के लिए मुफ्त जमीन उपलब्ध कराई जाएगी और उन्हें टैक्स दरों में भी छूट मिलेगी. 2005 से रूस में जन्म दर 21 फीसदी तक बढ़ चुकी है, देश जनसंख्या परिवर्तन से जूझ रहा है और 1990 में हुए बच्चे अब वयस्क हो रहे हैं. उनकी संख्या कम है. मेदवेदेव ने देशवासियों को भरोसा दिलाया कि 100 अरब रूबल (3 अरब डॉलर) के बजट से अगले दो साल में बच्चों के लिए अस्पतालों का आधुनिकीकरण किया जाएगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: एन रंजन

DW.COM

WWW-Links