1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

श्रीसंत को छांटने पर हैरान हैं सौरव गांगुली

भारत के सफलतम क्रिकेट कप्तान समझे जाने वाले सौरव गांगुली का कहना है कि उन्हें इस बात से हैरानी है कि तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई भारतीय क्रिकेट टीम में नहीं रखा गया.

default

सौरव गांगुली

भारतीय चयनकर्ताओं ने स्पिन गेंदबाजों पर ध्यान दिया है और 15 सदस्यों में श्रीसंत और इशांत को जगह नहीं मिली. सौरव गांगुली ने टीम में सिर्फ एक ही विकेटकीपर रखे जाने को भी एक जुआ बताया.

भारतीय उप महाद्वीप में 40 दिनों तक वर्ल्ड कप खेला जाना है और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के अलावा किसी भी विकेटकीपर को 15 सदस्यों में नहीं रखा गया है. हालांकि 30 खिलाड़ियों की जो सूची बनी थी, उसमें दिनेश कार्तिक, पार्थिक पटेल और ऋद्धिमान साहा सहित चार विकेटकीपर थे.

Flash-Galerie Cricket Shanthakumaran Sreesanth

गांगुली ने कहा, "यह सचमुच हैरानी की बात है कि बेहद फॉर्म में चल रहे श्रीसंत को वर्ल्ड कप की टीम में नहीं रखा गया है." टीम में तीन तेज गेंदबाज जहीर खान, आशीष नेहरा और मुनाफ पटेल को रखा गया है.

विकेटकीपर के सवाल पर सौरव का कहना है, "सिर्फ धोनी के तौर पर एक विकेटकीपर रखना सेलेक्टरों का एक बड़ा जुआ है. अगर उन्हें वर्ल्ड कप के दौरान चोट लग जाती है तो भला कौन विकेटकीपिंग करेंगे."

सौरव गांगुली की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम ने 2003 में वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई, जहां ऑस्ट्रेलिया ने उसे बुरी तरह से हरा दिया. मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया लगातार तीन वर्ल्ड कप जीत चुका है.

गांगुली को आईपीएल में किसी भी टीम ने नहीं खरीदा है और उनकी कोलकाता की टीम ने भारत के ऑल राउंडर यूसुफ पठान को बड़ी रकम पर लिया है.

पठान को वर्ल्ड कप में शामिल किए जाने के मसले पर गांगुली का कहना है कि उन्होंने अभी तक खुद को साबित नहीं किया है लेकिन भारत के पास जो विकल्प थे, उनमें यूसुफ ही सबसे अच्छे थे.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links