1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

शोएब मलिक से पीसीबी ने पाबंदी हटाई

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से एक साल का प्रतिबंध झेल रहे पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक के लिए राहत की खबर है. शनिवार को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने उन पर लगी पाबंदी वापस लेने का फैसला किया है. जुर्माने की रकम भी आधी होगी.

default

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के एडवोकेट तालिब रिजवी ने बताया कि क्रिकेट बोर्ड ने पाबंदी समाप्त करने का फैसला किया है. रिजवी ने पत्रकारों को बताया, "पीसीबी ने शोएब मलिक के आचरण और रवैये पर नजर रखी और अब पाबंदी उठाने का प्रस्ताव रखा है." ऑस्ट्रेलिया में खेली गई सीरिज में शर्मनाक हार के बाद पीसीबी ने मलिक पर पाबंदी लगाई थी और दस लाख रुपये का जुर्माना किया.

Pakistanische Spieler im Freudentaumel

इस मामले में जज की भूमिका निभा रहे इरफान कादिर ने कहा, "दोनों पक्ष अपनी दलीलों में सही थे लेकिन अब मैंने इस पाबंदी को हटाने और जुर्माने की रकम आधी करने का फैसला किया है."

शोएब मलिक उन 6 खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्होंने अपने ऊपर लगे जुर्माने और पाबंदी के खिलाफ अपील की. अगले महीने होने वाले एशिया कप के लिए चयनकर्ताओं ने शोएब मलिक को 35 संभावितों में शामिल कर लिया है.

साथ ही मलिक ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड दौरे के लिए संभावितों की सूची में भी शामिल हैं. तालिब रिजवी ने बताया कि शोएब मलिक को पाकिस्तान टीम में चुने जाने में कोई मुश्किल सामने नहीं आएगी. हालांकि रिजवी ने आगाह किया है कि भविष्य में खिलाड़ियों को अनुशासन में रहना होगा.

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान यूनुस खान पर भी अनिश्चितकालीन पाबंदी लगी है लेकिन उनकी अपील पर सुनवाई 9 जून तक के लिए खारिज हो गई है. यूनुस के वकील मोहम्मद अहमद कय्यूम के पास अपना केस तैयार करने के लिए समय होगा. कय्यूम इस बात को लेकर खुश नहीं हैं कि इस मामले में जज की भूमिका निभा रहे इरफान कादिर ने दो स्वतंत्र पर्यवेक्षकों को सुनवाई में बैठने नहीं दिया.

अंदरूनी गुटबाजी के आरोपों के चलते यूनुस खान और मोहम्मद यूसुफ पर अनिश्चितकालीन पाबंदी लगा दी गई थी. पाकिस्तान के कप्तान शाहिद अफरीदी और विकेटकीपर कामरान अकमल, उनके भाई उमर अकमल ने जुर्माने की रकम के खिलाफ अपील पर सुनवाई को स्थगित करने का अनुरोध किया. इरफान कादिर का कहना है कि वह मामले को जल्द से जल्द पूरा करना चाहते हैं.

गेंद को चबाने के आरोप में फंसे अफरीदी पर तीस लाख रुपये का जुर्माना किया गया है. अनुशासनहीनता के आरोप में कामरान अकमल पर 30 लाख रुपये और उनके छोटे भाई उमर अकमल पर बीस लाख रुपये का जुर्माने की सजा मिली है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संबंधित सामग्री