1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

शेयर बाज़ार में चीन का नया विश्व रिकॉर्ड

आर्थिक चमत्कार के लिए चीन काफ़ी वर्षों से सूर्खियों में आता रहा है, और अब वहां का कृषि बैंक बाज़ार में शेयर पेश करने के मामले में भी एक नया विश्व रीकॉर्ड कायम करने जा रहा है.

default

बुधवार को एग्रिकल्चरल बैंक ऑफ़ चायना की ओर से बाज़ार में 23.2 अरब डालर के शेयर छोड़े गए. इस बैंक को चीन के सबसे बड़े चार सरकारी बैंकों में से एक माना जाता है. प्राथमिक सार्वजनिक प्रस्ताव, या अंग्रेज़ी आद्याक्षरों के अनुसार आईपीओ की यह राशि अब तक दुनिया में सबसे बड़ी मानी जा रही है. इससे पहले सन 2006 में इंडस्ट्रियल ऐंड कामर्शियल बैंक ऑफ़ चायना ने 22 अरब डालर के बराबर आईपीओ का रेकार्ड बनाया था.

अंतर्राष्ट्रीय वित्त बाज़ार के बड़े निवेशकों की ओर से इस आईपीओ को भरपूर समर्थन मिल रहा है. इनमें शामिल हैं कतार का सौवेरीन वेल्थ फ़ंड, अमरीकी फूड चेन आर्चर डैनिएल्स मिडलैंड और ब्रिटेन का बैंक स्टैंडर्ड चार्टर्ड. स्टैंडर्ड चाटर्ड के चीफ़ एक्ज़ीक्युटिव पीटर सैंड्स ने इस ख़बर की पुष्टि की है कि उनकी संस्था इसमें 50 करोड़ डालर के बराबर निवेश करने जा रही है. उन्होंने कहा कि एग्रिकल्चरल बैंक ऑफ़ चायना एक विशाल बैंक है, जिसका भविष्य अत्यंत उज्ज्वल है.

छोटे निवेशकों के लिए बैंक के शेयर उपलब्ध कराने के बाद हांगकांग में बैंक के दफ़्तरों के सामने लोगों की तुरंत लंबी कतारें देखी गईं. हालांकि हांगकांग के साउथ चायना मार्निंग पोस्ट समाचार पत्र का कहना है कि बाज़ार में आईपीओ पेश करने के लिए यह वक्त ग़लत है, क्योंकि लोगों का ध्यान फ़ुटबॉल विश्वकप की ओर लगा हुआ है. समाचार पत्र का कहना है कि शेयर से पैसा कमाने के बदले बहुतेरे लोग फ़ुटबॉल की बेटिंग से जल्द धन कमाना चाहते हैं.

बैंकों के शेयरों में मंदी की वजह से हांगकांग का हांग सेंग सूचकांक भी आज कुछ नीचे रहा. लोगों की नज़रें अब इस पर टिकी होंगी, कि चीन की मुख्य भूमि पर कितने शेयर ख़रीदे जाते हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: राम यादव