1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

शिकायतों पर बरसे आनंद शर्मा

भारत सरकार के वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा ने कॉमनेवल्थ खेलों की तैयारी में कमी गिनाने वालों को जमकर फटकार लगाई है और कहा है कि इसे सहन नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि आर्थिक महाशक्ति भारत को सम्मान से देखना होगा.

default

कॉमनवेल्थ खेलों की तैयारी में कमियों को लेकर हो रही शिकायतों को वाणिज्य मंत्री ने "निराधार" और "अनुचित" करार दिया है. आनंद शर्मा का कहना है कि इस बहाने से देश को नीचा दिखाने की कोशिशों को सहन नहीं किया जाएगा और शंकाएं बढ़ाने वाली बातें करने वाले देशों को इसके आर्थिक परिणाम झेलने पड़ेंगे. वाणिज्य मंत्री फिलहाल कनाडा के दौरे पर हैं और ओटावा में पत्रकारों से उन्होंने ये बातें कही.

Indien Commonwealth Games Flash-Galerie

आनंद शर्मा ने कहा कि भारत एक आर्थिक महाशक्ति है और उसे सम्मान की नजर से देखा जाना चाहिए. खेलों के आयोजन की तैयारियों में कमियों की बात को उन्होंने सिरे से खारिज कर दिया. आनंद शर्मा ने कहा," भारत को सम्मान न देना एक बड़ी भूल होगी क्योंकि जब कारोबार की बात आएगी तो आखिर नुकसान किसका होगा." ये कहकर शर्मा ने भारत के साथ कारोबारी रिश्ते रखने वाले देशों को आर्थिक परिणाम भुगतने की चेतावनी दे डाली.

आनंद शर्मा का कहना है "खेलों की तैयारी में कोई ऐसा बड़ा प्रोजेक्ट नहीं है जो शानदार तरीके से तैयार न हुआ हो इसके बावजूद भी आलोचना हो रही है तो ये देश को नीचा दिखाने की कोशिश है जिसे सहन नहीं किया जा सकता." शर्मा ने याद दिलाया कि कनाडा में विंटर ओलिम्पिक्स के दौरान भी इसी तरह से उसकी आलोचना कर दबाव बनाने की कोशिश की गई थी.

Commonwealth Games Dorf

शर्मा ने इस बात पर आश्चर्य जताया कि भारत मेहमानों का स्वागत करने में नाकाम रहेगा. उन्होंने भरोसा दिलाया कि दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स अब तक के सबसे शानदार और यादगार खेल आयोजनों में एक रहेगा. वाणिज्य मंत्री ने कहा, "सांस्कृतिक परंपराओं के मामले में हम बहुत धनी हैं और जानते हैं कि मेहमानों का स्वागत कैसे किया जाता है. मेहमानों का भव्य स्वागत होगा और कॉमनवेल्थ गेम्स को लंबे समय तक याद रखा जाएगा.

ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, स्कॉटलैंड, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड जैसे देशों ने खेलों के आयोजन में कमियों को लेकर काफी आलोचना की है. यहां तक कि कुछ एथलीटों ने तो भारत आने के अपने कार्यक्रम को आगे बढ़ा दिया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links