1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

शाहरुख और रणबीर सौ मिलियन डॉलर क्लब में

बॉलीवुड में किंग खान के नाम से मशहूर अभिनेता शाहरुख खान और रॉक स्टार रणबीर कपूर 100 मिलियन डॉलर क्लब में शामिल होने वाले भारत के पहले सेलिब्रिटी बन गए हैं.

भारत में पहली बार हुई सेलिब्रिटी वैल्यूएशन स्टडी से यह बात सामने आई है. एक अमेरिकी फर्म ने यह वैल्यूएशन किया है जिसके मुताबिक देश के टॉप 15 सेलिब्रिटी ब्रांड का कुल वैल्यूएशन 82 करोड़ डॉलर या 5025 करोड़ रुपये का है. यह वैल्यूएशन सेलिब्रिटी की ख्याति, साख और विज्ञापनों के जरिए उनके पैसे कमाने की क्षमता के आधार पर किया गया है. सेलिब्रिटी की सूची में सबसे पहले शाहरुख खान हैं जिनकी ब्रांड वैल्यू 18.49 करोड़ डॉलर या 1011 करोड़ रुपये है जबकि दूसरे नंबर पर रणबीर कपूर हैं जिनकी ब्रांड वैल्यू 12.94 करोड़ डॉलर यानी 793 करोड़ रुपये है. तीसरे नंबर पर हैं क्रिकेटर महेन्द्र सिंह धोनी जिनकी ब्रांड वैल्यू 7 करोड़ 19 लाख डॉलर यानी 441 करोड़ रुपये है.

क्रिकेटर विराट कोहली की ब्रांड वैल्यू 5.64 करोड़ डॉलर यानी 346 करोड़ रुपये है. इसके बाद नंबर आता है फिल्म अभिनेता आमिर खान का, जो पांचवें नंबर पर हैं जिनकी ब्रांड वैल्यू 5.49 करोड़ डॉलर यानी 346 करोड़ रुपये है. छठे नंबर पर हैं सलमान खान. सातवें नंबर पर दीपिका पादुकोण, आठवें पर ऋतिक रोशन, नौवें नंबर पर कैटरीना कैफ और दसवें नंबर पर करीना कपूर हैं.

रणबीर कपूर मेरा किरदार निभाये: संदीप सिंह

हॉकी स्टार संदीप सिंह का कहना है कि रॉक स्टार रणबीर कपूर उनके जीवन पर बनने वाली फिल्म में उनका किरदार अच्छी तरह निभा सकते हैं. बॉलीवुड की जानी मानी अभिनेत्री चित्रांगदा सिंह संदीप सिंह की जीवनी पर आधारित फिल्म बनाने जा रही हैं. संदीप ने हाल ही में बताया, "चित्रांगदा सिंह ने मेरे जीवन पर फिल्म बनाने का फैसला किया है. मुझे बहुत अच्छा लग रहा है कि मेरी कहानी लोग पर्दे पर देख सकेंगे."

संदीप सिंह ने कहा कि वह चाहते हैं कि रणबीर कपूर उनका किरदार निभाए. उन्होंने कहा, "मैं रणबीर का बड़ा प्रशंसक हूं और मैं चाहता हूं कि वह पर्दे पर संदीप सिंह का रोल करें. उन्होंने रॉकेट सिंह में एक सिख की भूमिका निभाई थी और वह काफी जंचे भी थे हालांकि यह निर्माता को तय करना है कि फिल्म का नायक कौन होगा." संदीप सिंह का कहना है कि इस फिल्म के जरिए युवाओं को संदेश जाएगा कि जीवन में इच्छाशक्ति होने पर कोई काम मुशिकल नहीं है.

एए/एमजे (वार्ता)

DW.COM

संबंधित सामग्री