1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

"शायद ही कोई ऐसी लड़की हो, जिससे कभी छेड़छाड़ न हुई हो"

महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा के खिलाफ एक कैंपेन में दुनियाभर की हजारों लड़कियों ने ट्विटर पर #MeToo हैशटैग से ट्वीट किये. पढ़िए अमेरिका से शुरू हुये इस ट्रेंड में दुनिया भर की महिलाएं क्या प्रतिक्रियाएं दे रही हैं.

ऑस्कर विजेता प्रोड्यूसर हार्वे वाइनश्टीन पर 20 से ज्यादा अभिनेत्रियों और मॉडलों ने यौन हमले का आरोप लगाया. इसके अलावा एक ताजा रिपोर्ट में सामने आया कि दिल्ली समेत दुनिया के तमाम महानगर महिलाओं के लिए किस कदर असुरक्षित हैं.

इन मुद्दों पर प्रतिक्रिया देते हुए अमेरिकी एक्ट्रेस एलीसा मिलानो ने ट्विटर पर लिखा कि अगर आप भी कभी यौन उत्नीड़न का शिकार हुये हैं तो #MeToo ट्वीट करिये. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि वो सारी महिलाएं जो कभी यौन हमले का शिकार हुई हैं, अगर #MeToo लिखें तो शायद लोगों को समझ आएगा कि यह परेशानी दरअसल कितनी भयानक है. उनके इस ट्वीट के बाद हजारों लड़कियों और लड़कों ने #MeToo ट्वीट किया.

ट्विटर के अलावा फेसबुक और इंस्टाग्राम पर भी लोगों ने #MeToo के सपोर्ट में पोस्ट लिखीं. एलीसा के ट्वीट के बाद एक्स मैन फिल्म की अभिनेत्री एना पैक्विन ने भी ट्वीट किया.

ब्रिटेन की लेबर पार्टी की संसद सदस्य स्टेला क्रीजी ने भी ट्विटर पर #MeToo ट्वीट किया.

अमेरिका से शुरू हुये इस कैंपेन में पूरी दुनिया के लोगों ने हिस्सा लिया. भारत से इस ट्रेंड में हजारों ट्वीट किये गये. महिमा कौल ने ट्विटर पर लिखा कि घूरने, भद्दे कमेंट्स से लेकर अनजान लोगों के छूने तक ऐसा कितनी बार हुआ है जब उन्हें इस तरह की चीजों का सामना करना पड़ा है.

शोनाली श्रॉफ ने ट्विटर पर लिखा कि मुझे शक है कि शायद ही कोई महिला इतनी किस्मत वाली होगी जिसने जीवन में कभी इस तरह की घटना का सामना ना किया हो.

परवीन अग्निहोत्री ने ट्विटर पर लिखा कि यह कितनी अच्छी बात है कि यौन उत्पीड़न की इतनी पीड़ित सामने आ रही हैं और अपनी बातें बता रही हैं लेकिन यह कितना दुखद है कि हमारे आसपास इतनी सारी कहानियां हैं.

घाना की जेमेलिया ने ट्विटर पर लिखा कि #MeToo हैशटैग को देखा जाना चाहिए क्योंकि हजारों लड़कियां अपने यौन उत्पीड़न की कहानियां बना नहीं सकती हैं!

DW.COM

संबंधित सामग्री