1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

शराबियों को सावधान करने वाला ऐप

युगांडा की पुलिस भ्रष्टाचार के लिए बदनाम है. लेकिन इन दिनों एक ऐप ने उसकी नाक में दम कर रखा है. ऐप बता रहा है कि अगर सिस्टम भ्रष्ट हो जाए, हालात किस कदर खराब हो सकते हैं.

पुलिस अधिकारियों ने चेकपोस्ट पर एक ड्राइवर को रोका. उससे ब्रीथएनालाइजर में फूंक मारने को कहा. पुलिस शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों को पकड़ने के इरादे से नाका दे रही थी. ड्राइवर ने शराब नहीं पी थी. वह आराम से अपने सफर पर निकल गया. पुलिस उसके बाद भी कई घंटों तक चेकपोस्ट पर मौजूद रही. लेकिन कोई भी शख्स शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए नहीं पकड़ा गया.

पुलिस को हैरानी हुई. युगांडा जैसे देश में शराब पीकर वाहन चलाने के मामले आए दिन सामने आते हैं. लेकिन बीते कुछ समय से बहुत ही कम लोग पकड़े जा रहे हैं. और इसकी वजह में एक मोबाइल ऐप है. ड्रिंक-ड्राइव चेकपॉइंट ऐप लोगों को बता देता है कि पुलिस कहां कहां खड़ी है.

ऐप बनाने वाले ने अपनी पहचान सार्वजनिक करने से इनकार कर दिया. लेकिन उसका दावा है कि ऐप की वजह से ज्यादातर लोग खुश हैं. ऐप बनाने की प्ररेणा उसे अपने दोस्तों की गिरफ्तारी से मिली. दोस्त शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़े गए.

(इन वजहों से होते हैं सबसे ज्यादा सड़क हादसे)

लेकिन शराबी ड्राइवरों को गिरफ्तार करने में क्या बुराई है? सड़क सुरक्षा का हवाला देने वाले कई लोग ऐप बनाने वाले की आलोचना कर रहे हैं. वहीं ऐप डेवलपर का कहना है, "लोगों को लगता है कि यह खराब चीज है, लेकिन अगर आप कभी कभार पुलिस किस ढंग से काम करती है, ये देखेंगे तो आपके पास भी कोई विकल्प नहीं बचेगा, यही सोचकर हमने ऐप बनाने का फैसला किया."

युगांडा की पुलिस देश में सबसे भ्रष्ट सरकारी महकमा मानी जाती है. वह रिश्वतखोरी के लिए भी बदनाम है. लेकिन पुलिस के गलत तरीके का जबाव सड़क पर आम लोगों की सुरक्षा से खिलवाड़ कर कैसे दिया जा सकता है. ऐप डेवलपर इसके जबाव में कहते हैं, "लोगों को शराब पीकर गाड़ी नहीं चलानी चाहिए. शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों को अपनी स्पीड पर ध्यान देना चाहिए और खुद के बजाए किसी और को गाड़ी चलाने देनी चाहिए."

पुलिस डेवलपर की तलाश कर रही है. उस पर साइबर क्राइम की धाराएं लगना तय है. पुलिस ने आम लोगों से अपील की है कि वे ड्रिंक-ड्राइव चेकपॉइंट ऐप का इस्तेमाल न करें. लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि उन्होंने ऐप शराब पीकर गाड़ी चलाने के लिए नहीं बल्कि भ्रष्ट पुलिसवालों से बचने के डाउनलोड किया है. कई लोगों को लगता है कि ऐप के चलते ज्यादा सड़क हादसे होंगे.

एक ड्राइवर ने कहा, "शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों को रोड ब्लॉक कर पकड़ना अच्छा विचार है. इसके पीछे मंशा भी इच्छी है, लेकिन इसका दुरुपयोग किया गया, पुलिस अक्सर पैसा वसूलती है."

वहीं एक अन्य ड्राइवर ने कहा, ऐप "कानून को कमजोर करता है इसीलिए लोग पुलिस को छका पाते हैं. मैंने इसके बारे में सुना है, लेकिन इस्तेमाल नहीं किया."

(एक नजर दुनिया भर में सबसे ज्यादा डाउनलोड किये गये ऐप्स पर)

एलेक्स गिटा/ओएसजे

DW.COM