1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

शरणार्थी संकट पर सहमति से दूर है ईयू

यूरोपीय संघ के शिखर सम्मेलन में शरणार्थी संकट पर तुर्की के साथ कई साझा कदमों पर सहमति बनी है लेकिन बहुत सी समस्याएं अभी भी अनसुलझी हैं. सम्मेलन के तुरंत बाद हंगरी ने क्रोएशिया के साथ अपनी सीमा को बंद करने का फैसला लिया.

शरणार्थी संकट पर यूरोपीय देशों में पूरी सहमति होती नहीं दिख रही है. शरणार्थियों के लिए यूरोप आने का एक और रास्ता बंद कर दिया गया है. हंगरी शनिवार को ईयू सदस्य क्रोएशिया के साथ लगी अपनी 300 किलोमीटर की सीमा सील कर रहा है. एक महीने पहले उसने सर्बिया के साथ लगी सीमा पर बाड़ लगाकर शरणार्थियों को रोक दिया था. इस फैसले के साथ द्वितीय विश्व युद्ध के बाद पहली बार कुछ देश अपनी राष्ट्रीय सीमा की नाकेबंदी कर रहे हैं. तुर्की के साथ हुए एक समझौते का लक्ष्य भी शरणार्थियों को यूरोप आने से रोकना है. जर्मनी में संसद के ऊपरी सदन बुंडेसटाग ने शरणार्थी कानून को सख्त बनाने के कानून को पास कर दिया है.

हंगरी के विदेश मंत्री शिजार्तो ने शिकायत की है कि यूरोपीय नेताओं के शिखर सम्मेलन ने ऐसा कोई फैसला नहीं किया जो संघ की बाहरी सीमा की सुरक्षा को संभव बनाए, "लेकिन हमसे उम्मीद की जा रही है कि हम शेंगेन के नियमों को लागू करें." शरणार्थियों से आवेदन लेने के लिए सीमा पर दो ट्रांजिट क्षेत्र बनाए गए हैं. बुल्गारिया और तुर्की की सीमा पर एक शरणार्थी पुलिस की चेतावनी गोली से मारा गया है. यह यूरोपीय संघ में अपने तरह का पहला मामला है. संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायोग ने मामले की निंदा की है. सोफिया में संयुक्त राष्ट्र संस्था के प्रवक्ता ने कहा कि बल प्रयोग को उचित नहीं ठहराया जा सकता.

इस बीच यूरोपीय संघ ने शरणार्थी समस्या पर काबू पाने के लिए तुर्की के साथ एक साझा योजना तय की है. यूरोपीय नेताओं ने तुर्की के साथ हुई सहमति का स्वागत किया है. यूरोपीय संघ को उम्मीद है कि इसके लागू होने से कम शरणार्थी यूरोप का रुख करेंगे. इसके बदले तुर्की के लोगों को वीजा मिलने में ढील दी जाएगी और यूरोपीय संघ में तुर्की की सदस्या वार्ता में तेजी आएगी. तुर्की ने अपने देश में रह रहे शरणार्थियों की मदद के लिए 3 अरब यूरो की मांग की है. तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तय्यप एरदोवान ने ईयू के रुख की आलोचना की है. यूरोपीय संघ सिर्फ 1 अरब यूरो की पेशकश कर रहा है. ईयू प्रमुख जाँ क्लोद युंकर ने कहा है कि आने वाले दिनों में तुर्की के साथ इस पर गहन बातचीत होगी. तुर्की में सीरिया से भागे 20 लाख लोग रहते हैं.

शरणार्थियों को ईयू में बांटने का एक स्थायी नियम तय करने की ईयू की योजना पर अभी कोई सहमति नहीं हुई है. जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल के प्रस्ताव पर 160,000 शरणार्थियों को बांटने का फैसला लिया गया है, लेकिन चांसलर ने इस मुद्दे पर गंभीर मतभेदों की बात स्वीकार की है. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर खुलकर बहस हुई.

एमजे/आईबी (डीपीए)

क्या सीमा बंद करने का हंगरी का फैसला सही है? नीचे के कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें.

DW.COM

संबंधित सामग्री