1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

शरणार्थियों पर तुर्की और ईयू के बीच सहमति

यूरोपीय संघ और तुर्की के बीच शरणार्थी समस्या के समाधान के लिए सहमति हो गई है. ब्रसेल्स में यूरोपीय संघ के 28 देशों के सम्मेलन ने दोनों पक्षों के बीच हुए समझौते की पुष्टि कर दी है.

वीडियो देखें 02:02

इडोमेनी के दलदल में शरणार्थी

शुरुआती रिपोर्टों में कहा गया है कि यूरोपीय नेताओं ने यूरोपीय संघ और तुर्की के बीच वार्ता में हुई सहमति को सैद्धांतिक रूप से मंजूरी दे दी है, जिसे यूरोपीय संघ के प्रमुख डोनाल्ड टुस्क ने तुर्की के प्रधानमंत्री अहमत दावुतोग्लू से बातचीत के बाद पेश किया.

इस संधि में यह प्रावधान है कि ग्रीस में आने वाले नए अनियमित शरणार्थियों को वापस तुर्की भेजा जा सकेगा. यह प्रक्रिया इसी रविवार 20 मार्च से शुरू हो जाएगी. अब तक कहा जा रहा था कि जल्द ही अनियमित शरणार्थियों की वापसी शुरू हो सकेगी. तुर्की के एक अधिकारी ने कहा है कि ग्रीस से शरणार्थियों की वापसी 4 अप्रैल से शुरू होगी.

शिखर भेंट के अंत के लिए तैयार समापन बयान के अनुसार यूरोपीय संघ ने तुर्की से 72000 सीरियाई शरणार्थियों को कानूनी रूप से लेने का आश्वासन दिया है. यदि यह संख्या बढ़ती है तो इस प्रक्रिया को रोक दिया जाएगा.

फिनलैंड की प्रधानमंत्री जूहा सिपिला ने शिखर भेंट से ट्वीट किया कि शरणार्थी संकट के समाधान पर संधि पर सहमति हो गई और प्रस्तावों को मंजूरी दे दी गई.

यूरोपीय संघ के एक प्रमुख प्रतिनिधि ने कहा कि तुर्की ने संधि के अंतिम मसौदे को सहमति दे दी थी. इसमें यह भी तय किया गया है कि तुर्की के साथ ईयू सदस्यता वार्ता के तहत जून के अंत तक सरकारी बजट और दूसरे वित्तीय संसाधनों पर बातचीत शुरू होगी. सदस्यता वार्ता के इस हिस्से पर ईयू के सदस्य साइप्रस को वीटो का अधिकार नहीं है. ईयू के प्रतिनिधि एक हफ्ते के अंदर उन परियोजनाओं की सूची बनाएंगे जिनके लिए तुर्की को शरणार्थियों की सहायता के सिलसिले में वित्तीय मदद दी जाएगी.

एमजे/एसएफ (डीपीए, रॉयटर्स)

DW.COM

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री