व्हाट्सऐप डाटा के लिए फेसबुक गया अदालत | दुनिया | DW | 20.10.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

व्हाट्सऐप डाटा के लिए फेसबुक गया अदालत

हमारा आपका डाटा किसका है, इसका फैसला अब अदालत में होगा. फेसबुक ने व्हाट्सऐप के डाटा के इस्तेमाल पर जर्मन प्रांत हैम्बर्ग के डाटा अधिकारी द्वारा लगाई गई रोक के खिलाफ अदालत में अपील में अपील की है.

हैम्बर्ग के डाटा संरक्षण अधिकारी योहानेस कास्पर ने सितंबर के अंत में एक प्रशासनिक निर्देश के जरिए फेसबुक पर व्हाट्सऐप यूजर्स के डाटा लेने और सेव करने रोक लगा दी थी. अब दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन सोशल नेटवर्क इस फैसले के खिलाफ अदालत में जा रहा है. जैसे ही कास्पर ने व्हाट्सऐप कंपनी द्वारा अपने यूजर्स के टेलिफोन नंबर फेसबुक को दिए जाने पर रोक लगाई थी, ऑनलाइन नेटवर्क ने इसका विरोध करने की घोषणा की थी. फेसबुक का मानना है कि व्हाट्सऐप को खरीदे जाने के बाद वह उसके डाटा का इस्तेमाल कर सकता है.

फेसबुक के प्रवक्ता का कहना है कि अपील का फैसला होने तक कंपनी डाटा संरक्षण कार्यालय के निर्देश को मानती रहेगी. फेसबुक ने डाटा संरक्षण कार्यालय के फैसले के खिलाफ हैम्बर्ग की प्रशासनिक अदालत में अपील की है. प्रशासनिक अदालत के फैसले के बाद भी उसके पास ऊंची अदालतों में जाने का विकल्प होगा.

देखिए सोशल मीडिया दिमाग पर कैसे असर करता है

करीब 1 अरब यूजर वाले व्हाट्सऐप ने अगस्त के अंत में घोषणा की थी कि वह भविष्य में अपने यूजर्स के फोन नंबर फेसबुक को देगा. इसके अलावा मालिक कंपनी के साथ ये जानकारी भी साझा की जाएगी कि यूजर कितनी बार व्हाट्सऐप का इस्तेमाल करता है. इनकी मदद से फेसबुक पर विज्ञापन और दोस्त बनाने की सलाह को बेहतर करने की योजना है. व्हाट्सऐप यूजर फेसबुक विज्ञापन के लिए अपने डाटा के इस्तेमाल की अनुमति देने से मना कर सकते हैं, लेकिन यदि यूजर व्हाट्सऐप का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो उनका फोन नंबर हर हाल में फेसबुक को दिया जाएगा. कास्पर का मानना है कि यूजर को अपना डाटा देने या नहीं देने का फैसला खुद करना चाहिए.

इस विवाद में सबसे महत्वपूर्ण फैसला ये होगा कि क्या हैम्बर्ग के डाटा कार्यालय को इस तरह का फैसला लेने का अधिकार है. कास्पर का कहना है कि फेसबुक डाटा की प्रोसेसिंग हैम्बर्ग में कर रहा है क्योंकि वहीं से उसका जर्मन भाषा का विज्ञापन का कारोबार चलता है. इसलिए फेसबुक पर राष्ट्रीय डाटा संरक्षण कानून लागू होता है. कास्पर अपने इस विचार में पहले ही विफल हो चुके हैं लेकिन उनका कहना है कि जुलाई में यूरोपीय अदालत के एक फैसले के बाद उनका दावा मजबूत हुआ है. फेसबुक की दलील है कि उसका यूरोपीय मुख्यालय आयरलैंड में है, इसलिए उस पर वहां का डाटा संरक्षण कानून लागू होता है.

देखिए फेसबुक को यूं चमकाएं

फेसबुक ने लोकप्रिय चैट ऐप व्हाट्सऐप को दो साल पहले 22 अरब डॉलर में खरीदा था. उस समय कहा गया था कि फिलहाल डाटा अलग अलग रहेंगे और व्हाट्सऐप स्वतंत्र रूप से काम करेगा. अभी भी भरोसा दिलाया जा रहा है कि फेसबुक व्हाट्सऐप पर भेजे जाने वाले मैसेज नहीं देख सकता, इसलिए भी कि वह एनकोडेड हैं.

एमजे/एके (डीपीए)

DW.COM