1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

वैश्विक स्तर पर तेल के दाम बढ़े

तेल उत्पादक देशों के संगठन ओपेक (ओपीईसी) की बैठक से पहले दुनिया में तेल के दाम बढ़ गए हैं. माना जा रहा है कि ओपेक तेल का उत्पादन नहीं बढ़ाएगा जबकि अमेरिकी डॉलर लगातार कमजोर हो रहा है. आज वियना में ओपेक की बैठक हो रही है.

default

बुधवार को न्यूयॉर्क में नवंबर के लिए तेल का सौदा हुआ. यह सौदा 83.01 डॉलर पर हुआ जो कि पिछले सौदे से 1.34 डॉलर ज्यादा है. लंदन में ब्रेंट नॉर्थ सी क्रूड का नवंबर का सौदा 1.14 डॉलर ज्यादा यानी 84.64 डॉलर प्रति बैरल पर हुआ.

कॉमेर्त्सबांक के विश्लेषक कार्स्टन फ्रिच इसकी वजह कमजोर डॉलर और चीन के बढ़ते आयात को बताते हैं. वह कहते हैं, "तेल की कीमतें बढ़ी हैं तो इसका श्रेय कमजोर अमेरिकी डॉलर और चीन की तरफ से बढ़ते आयात को जाता है. लेकिन यह अब भी पिछले हफ्ते के स्तर से काफी नीचे हैं."

फ्रिच कहते हैं कि चीन ने सितंबर में रिकॉर्ड मात्रा में तेल आयात किया है. उन्होंने बताया, "चीन ने सितंबर में रोजाना के हिसाब से 56.7 लाख बैरल तेल का आयात किया. पिछले साल के हिसाब से देखा जाए तो यह 35 फीसदी ज्यादा है."

विदेशी विनिमय की दर देखी जाए तो बुधवार को एक यूरो की कीमत 1.40 डॉलर रही. अमेरिका में मौद्रिक नीति में ढील दी जा रही है जिसका सीधा असर अमेरिकी डॉलर पर हो रहा है. पिछले महीने की अमेरिकी फेडरल रिजर्व की नीतिगत बैठक में हुई चर्चा से पता चलता है कि बैंक आर्थिक हालत में सुधार की गति को बनाए रखने के लिए जल्दी ही किसी बड़ी मदद की उम्मीद कर रहा है.

तेल के सौदे अमेरिकी डॉलर में होते हैं इसलिए अगर डॉलर कमजोर पड़ता है इसका सीधा असर कीमतों पर होता है. क्योंकि तब लोगों के लिए तेल खरीदना सस्ता हो जाता है. उधर पैरिस में बुधवार को इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी ने भी तेल की खपत बढ़ने का अनुमान जाहिर कर दिया है. एजेंसी के मुताबिक इस साल तेल की खपत प्रतिदिन तीन लाख बैरल ज्यादा होगी. यानी इस साल 869 लाख बैरल तेल रोजाना इस्तेमाल किया जाएगा. 2011 में इसकी मात्रा बढ़कर 882 बैरल हो जाएगी. अपनी मासिक रिपोर्ट में एजेंसी ने कहा है कि इस साल तेल की खपत में 2.5 फीसदी की बढ़ोतरी होगी जबकि अगले साल 1.4 फीसदी की बढ़ोतरी का अनुमान है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links