1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

वीडियो: रूस के आसमान में दिखे तीन सूरज

कैसा होता अगर पृथ्वी के पास भी शनि की तरह ढेर सारे चांद होते? आसमान में जगह जगह चांद देखने को मिलता. लेकिन चांद एक ही है और सौर मंडल में सूरज भी एक, तो फिर रूस के आसमान में तीन सूरज कैसे दिखे?

यह वीडियो हैरान करने वाला है. आसमान में दिख रहे तीन सूरज नजरों का धोखा लगते हैं. लेकिन यह हकीकत है. रूस में यह नजारा देखा गया और यह पहली बार भी नहीं हुआ है. खासकर रूसी शहर चेलीआबिंस्क को इस तरह के करिश्मे देखने की आदत है. यह वही शहर है जहां 2013 में 570 किलो भारी उल्कापिंड गिरा था. टूटते तारों के साथ साथ यहां रहने वालों को सर्दी के मौसम में तीन सूरज देखने की भी आदत है.

दरअसल वीडियो में जो दिख रहा है, उसे "हेलो इफेक्ट" कहते हैं. यह कुछ कुछ वैसा ही है जैसा इंद्रधनुष का बनना. फर्क इतना है कि इंद्रधनुष बरसात में पानी के कारण बनता है और यह इफेक्ट बर्फ के कारण. दोनों ही मामलों में पानी और बर्फ रोशनी को परावर्तित करते हैं, जिस कारण एक आभास पैदा होता है. अंग्रेजी में इसे ऑप्टिकल इल्यूजन कहा जाता है.

जिस समय रूस के आसमान में तीन सूरज दिखाई दिए, वहां का तापमान शून्य से 25 डिग्री कम था. ऐसे में हवा में बर्फ के छोटे छोटे कण मौजूद होते हैं, जो इस इफेक्ट को अंजाम देते हैं. इन्हें "फैंटम सन" या फिर "सन डॉग" भी कहा जाता है और ऐसा बहुत ही कम देखने को मिलता है.

आईबी/एसएफ

DW.COM