1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

वीडियो: जर्मनी में शरणार्थियों की बस रोक नारेबाजी

जर्मनी में शरणार्थी विरोधी भीड़ ने बस को रोक नारेबाजी की. वीडियो के सामने आने पर हैरान जर्मन अधिकारियों ने खेद जताया. पुलिस के अनुसार हमला करने वाले उग्रदक्षिणपंथी गुटों से नाता रखते हैं.

जर्मनी के पूर्वी राज्य सैक्सनी में शरणार्थियों से भरी बस को भीड़ ने घेर लिया और उनके विरोध में नारे लगाए. सोशल मीडिया पर तेजी से फैले इस वीडियो में देखा जा सकता है कि बस में सवार शरणार्थी अपने विरोध में लगाए जा रहे नारों पर फूट फूट कर रो रहे हैं. भीड़ ने "वापस जाओ" के नारे लगाए. नववर्ष की पूर्व संध्या पर कोलोन में महिलाओं के साथ हुए यौन दुर्व्यवहार के बाद से जर्मनी में शरणार्थियों की बाढ़ के विरोधी स्वर जोर पकड़ रहे हैं.

सैक्सनी के गृह मंत्री मारकस उलबिश ने घटना को शर्मनाक बताया. सैक्सनी के पुलिस प्रवक्ता रफाएल शुल्त्स के मुताबिक यह वीडियो क्लाउसनित्स से 30 किलोमीटर दूर दक्षिण ड्रेसडेन का है. उन्होंने समाचार एजेंसी एपी को बताया कि यह घटना तब हुई जब करीब 100 लोगों ने बस को घेर लिया. लेकिन पुलिस किसी भी तरह की हिंसा को रोकने में कामयाब रही. पुलिस के मुताबिक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है लेकिन पुलिस धमकियों और हिंसक नारेबाजी की घटना की जांच कर रही है.

पुलिस का कहना है कि बस में सवार यात्रियों ने घटना के वीडियो बनाए और कुछ ने विरोधियों की तरफ असभ्य इशारे भी किए. पुलिस प्रमुख उवे राइसमन के मुताबिक विरोधियों की संख्या भविष्य में बढ़ भी सकती है. पिछले साल जर्मनी ने करीब 10 लाख शरणार्थयों को अपने यहां पनाह दी. जर्मन सरकार के शरणार्थियों की बड़ी तादाद के लिए द्वार खोलने का कुछ उग्रदक्षिणपंथी गुट विरोध कर रहे हैं. उग्रदक्षिणपंथी विचारधारा वाला पेगीडा खास कर ड्रेसडेन में सक्रिय है, जहां वह आए दिन शरणार्थियों के खिलाफ प्रदर्शन करता है.

एसएफ/आईबी

DW.COM

संबंधित सामग्री