1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

वीडियो: क्या क्या होगा सेंसर?

इस वीडियो में मुंबई के पेशेवर कॉमेडियंस के समूह एसएनजी कॉमेडी ने भारतीय सेंसर बोर्ड के कामकाज को लेकर तंज कसा है. साथ ही अभिव्यक्ति की आजादी के मुद्दे को बड़ी खूबी के साथ उठाया है.

भारत में सेंसर बोर्ड के सुझावों से कई फिल्मकार, विज्ञापन निर्माता और दूसरे क्रिएटिव लोगों को परेशानी हो रही है. ताजा मामला उड़ता पंजाब फिल्म का है. मुद्दा विचारों और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार का है, जिसके लिए समाज का क्रिएटिव तबका जोरशोर से आवाज उठा रहा है. इस मनोरंजक वीडियो में कॉमेडी के माध्यम से भविष्य का आईना दिखाया गया है, जो आज की हकीकत से बहुत ज्यादा दूर भी नहीं लगता. आप भी देखिए.

सेंट्रल ब्यूरो ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन का काम भारतीय फिल्मों में दिखाए जाने वाले धूम्रपान, शराब का सेवन, चुंबन और नग्नता दिखाने वाले संवेदनशील दृश्यों को लेकर सतर्क रहना और उसके लिए दर्शक वर्ग को सीमित करने का है. इस काम को बोर्ड फिल्म को यू (युनिवर्सल) या ए (एडल्ट) सही सर्टिफिकेशन देकर अंजाम देता है. हालांकि कई बार सेंसर बोर्ड के सुझाव और दृश्य काटने या नाम बदलने जैसी शर्तें फिल्म निर्माताओं के गले नहीं उतरतीं और विवाद खड़े हो जाते हैं.

DW.COM

संबंधित सामग्री