1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

वीडियो: काले से गोरा करने वाला चीनी डिटर्जेंट

चीनी टेलीविजन पर दिखाया जा रहे एक डिटर्जेंट के विज्ञापन पर बहस छिड़ी है. खुद देखिए और बताइए कि क्या आपको इस ऐड में कोई बात खटकती है.

एक कमरे में एक चीनी दिखने वाली महिला वॉशिंग मशीन चला रही है. दरवाजे से एक अश्वेत युवक प्यार भरे इशारे करता हुआ मुस्कराते हुए उस लड़की की ओर बढ़ता है. लड़की भी उसे पास बुलाने का इशारा करती है लेकिन जैसे ही वो करीब आता है, लड़के को धक्का देकर वॉशिंग मशीन में डाल देती है. ऐसा करना ही ज्यादातर लोगों को बहुत गलत लगेगा. लेकिन इसके बाद जो होता है वो इससे भी ज्यादा गलत लगना चाहिए. देखिए इसके आगे होता क्या है...

चीनी टीवी पर दिखाए गए इस ऐड की देश के भीतर तो कम लेकिन दुनिया भर में कहीं ज्यादा कड़ी प्रतिक्रिया हो रही है. सोशल मीडिया के संदेशों पर ध्यान दें तो खाओबी ब्रांड के इस डिटर्जेंट के ऐड की काफी कड़े शब्दों में आलोचना हुई है.

मजेदार बात देखिए कि इस विज्ञापन का आइडिया कोई नया नहीं है. इससे पहले इटली में बिल्कुल इसी तरह बने एक "कलर" डिटर्जेंट के ऐड में एक श्वेत इतावली आदमी को मशीन में डालकर अश्वेत आदमी को बाहर निकाला था. विज्ञापन का नारा था "कलर इज बेटर."

चीनी मीडिया में नस्लीय भेदभाव को दिखाने वाला यह कोई पहला मामला नहीं है. बड़ी संख्या में अफ्रीकी मूल के लोग चीन और भारत जैसे देशों में रहते हैं. उनके त्वचा के गहरे रंग के कारण इन्हें कई बार भेदभाव और पूर्वाग्रहों का सामना करना पड़ता है.

संबंधित सामग्री