1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

विवाद में माइक्रोसॉफ्ट सीईओ सत्य नडेला

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला को अपने बयान के लिए माफी मांगनी पड़ी है. गुरुवार को अमेरिका में एक सम्मलेन के दौरान उन्होंने कहा कि महिलाओं को वेतन बढ़ाने की मांग नहीं करनी चाहिए.

सत्य नडेला को अपने इस बयान के कारण कामकाजी महिलाओं के गुस्से का शिकार होना पड़ा है. हैरानी की बात यह है कि नडेला ने जिस सम्मलेन में यह बात कही, वह महिलाओं के लिए ही आयोजित किया गया था. जीएचसी नाम के इस सम्मलेन का मकसद आईटी इंडस्ट्री में महिलाओं के योगदान को बढ़ावा देना है.

कंप्यूटर से जुड़ी कंपनियां अधिकतर पुरुषों को प्राथमिकता देती हैं. इस उद्योग में महिलाओं की तुलना में कम नौकरियां और कम वेतन दिया जाता है. ऐसे में जब किसी ने नडेला से उन महिलाओं को सुझाव देने को कहा जो वेतन बढ़ाने की मांग करते हुए झिझकती हैं, तो नडेला ने कहा, "वेतन बढ़ाने के बारे में ना सोच कर (महिलाओं को) सिस्टम पर विश्वास रखना चाहिए कि जब सही वक्त होगा आपका वेतन बढ़ जाएगा."

अच्छे कर्म के भरोसे

उन्होंने कहा कि वेतन बढ़ाने की मांग ना करना "अच्छा कर्म" है और इससे बॉस भी यह बात समझेगा कि इस कर्मचारी पर भरोसा किया जा सकता है और इसे ज्यादा जिम्मेदारी दी जा सकती है. सम्मलेन के दौरान ट्विटर पर महिलाओं को लगातार जीएचसी की तारीफ करते देखा गया. लेकिन नडेला के इस बयान के बाद उनके खिलाफ ट्वीट्स की झड़ी लग गयी.

इसके बाद नडेला को माफी मांगनी पड़ी. अपने शब्द वापस लेते हुए उन्होंने कहा कि उन्होंने सवाल का "बिलकुल गलत" जवाब दिया. ट्विटर पर उन्होंने लिखा, "पुरुषों और महिलाओं को समान काम के लिए समान वेतन मिलना चाहिए. [...] अगर आपको लगता है कि आपका वेतन बढ़ना चाहिए तो आपको जरूर उसकी मांग करनी चाहिए." नडेला ने अपने पूरे स्टाफ को ईमेल कर उन्हें भी सफाई दी है. उन्होंने लिखा है, "मैं पूरे दिल से माइक्रोसॉफ्ट और इंडस्ट्री की उन योजनाओं का समर्थन करता हूं जो महिलाओं को तकनीक के क्षेत्र में लाने और वेतन की असमानता को खत्म करने के लिए बनी हैं."

Was inarticulate re how women should ask for raise. Our industry must close gender pay gap so a raise is not needed because of a bias #GHC14

माइक्रोसॉफ्ट के कुल एक लाख से ज्यादा कर्मचारियों में 29 फीसदी ही महिलाएं हैं. अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ यूनिवर्सिटी विमेन की ताजा रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल अमेरिका में महिलाओं को पुरुषों की तुलना में 78 फीसदी कम वेतन दिया गया, जबकि दोनों का काम समान था.

आईबी/एएम (एएफपी, रॉयटर्स)


DW.COM

संबंधित सामग्री