1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

विवादित इस्लामिक प्रचारक से जुड़ा युवक गिरफ्तार

विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. एक लड़की का धर्मांतरण कर उसे आईएस में भेजने के आरोप में जाकिर नाइक के सहयोगी को गिरफ्तार किया गया है.

ढाका में आतंकी हमले के बाद विवादों में आए जाकिर नाइक पर मुंबई पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है. महाराष्ट्र एटीएस और केरल पुलिस ने साझा ऑपरेशन कर इस्लाम के इस विवादित उपदेशक के एक निकट सहयोगी अरशीद कुरैशी को नवी मुंबई से गिरफ्तार किया है. आतंक से दूर दूर तक नाता ना होने का दावा करने वाले डॉक्टर जाकिर नाइक की मुसीबत इस गिरफ्तारी के बाद और बढ़ सकती है.

आईएस में भेजने का आरोप

जाकिर नाइक के सहयोगी अरशीद कुरैशी को केरल की मरियम का धर्मांतरण कर उसे आईएस में भेजने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. इस मामले कि एफआईआर केरल में दर्ज करायी गयी थी. उसके खिलाफ कोच्चि में आईपीसी की आपराधिक साजिश और समूहों के बीच शत्रुता फैलाने की धाराओं के अलावा गैर कानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.

अरशीद कुरैशी को नवी मुंबई की बेलापुर की एक अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे 25 जुलाई तक केरल पुलिस की ट्रांजिट रिमांड में भेज दियागया. केरल पुलिस अब उसे कोच्चि की अदालत में पेश करेगी.अरशीद कुरैशी जाकिर नाइक के इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन से जुड़ा हुआ है.

प्यार, धर्म और आतंक

जिस मामले को लेकर कुरैशी की गिरफ्तारी हुई है उसमे प्यार, धर्म और आतंक का गठजोड़ है. दरअसल, केरल से भागी लड़की मरियम,जिसका नाम पहले नाम मरीन था, दो साल पहले तक मुंबई में एक बीपीओ में काम करती थी. इस दौरान उसकी मुलाकात याह्या नाम के ईसाई लड़के से हुई. दोनों ने दोस्ती और प्यार के बाद शादी कर ली. याह्या का झुकाव इस्लाम की ओर था. वह लगातार जाकिर नाइक के इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के दफ्तर में जाता था और पकड़े गए अरशीद कुरैशी के लगातार संपर्क में था.

याह्या ने ही मरीन को अरशीद कुरैशी से मिलवाया और बाद में अरशीद कुरैशी ने मरीन का धर्म बदल कर इसे मरियम बना दिया. खबरों के अनुसार खुद मरीन भी अरशीद कुरैशी से काफी प्रभावित थी. अब इस मामले में मरीन का पति याह्या भी लापता है. महाराष्ट्र एटीएस और केरल पुलिस उसकी तलाश में छापेमारी कर रही है.

ऐसे हुआ खुलासा

मरीन के भाई एबिन जेकब ने कोच्चि पुलिस को बताया था कि उसकी बहन मरीन उर्फ मरियम, अपने पति बेस्टिन विन्सेंट उर्फ याह्या के साथ लापता है. उसने जो कहानी पुलिस को सुनायी उसके बाद पुलिस मामले के तार को जोड़ते हुए जाकिर नाइक के सहयोगी तक पहुंच गयी. एबिन ने कोच्चि पुलिस को बताया था कि याह्या ने ही उसे मुंबई में कुरैशी से मिलवाया था. मुंबई में याह्या और कुरैशी ने एबिन को पुस्तकों, तर्कों और विचारों के जरिये इस्लाम की श्रेष्ठता के बारे में समझाया. इसके लिए उसे लाइब्रेरी में ले जाकर हर धर्म की तुलना की गयी. एबिन ने पुलिस को बताया कि मुसलमान बनाने और आईएस में भर्ती होने को लेकर उसपर दबाव बनाया गया.

एबिन के मुताबिक, मरियम के धर्म परिवर्तन के पीछे भी याह्या उर्फ़ बेस्टिन और कुरैशी का हाथ था. एबिन के बयान के बयान के बाद ही पुलिस ने अरशीद कुरैशी को गैरकानूनी एक्टिविटीज (प्रिवेंशन) एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया. उल्लेखनीय है कि आईएस में शामिल हुए केरल के 21 लोगों की अलग अलग कहानियां सामने आई हैं. लेकिन दो महिलाओं, निमिशा और मरीन की कहानी में कुछ समानता है. दोनों का पहले धर्म परिवर्तन कराया गया फिर उन्हें आईएस की ओर धकेल दिया गया. दोनों ही मामलों में आतंक और नफरत की दुनिया में धकलने के लिए प्यार को जरिया बनाया गया.

DW.COM

संबंधित सामग्री