1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

विराट कोहली को रोकना मुश्किल थाः टेलर

न्यूजीलैंड का कहना है कि गुवाहाटी वनडे मैच में शानदार शतक बनाने वाले भारतीय टीम के बल्लेबाज विराट कोहली को रोक पाना मुश्किल काम था. मेहमान टीम के कप्तान ने जी भर कर कोहली की तारीफ की. भारत मैच 40 रन से जीता.

default

रॉस टेलर ने कहा कि बीच के ओवरों में उनकी टीम ने निराशाजनक बल्लेबाजी की और आखिर में यही हार का कारण बना. मध्यक्रम में न्यूजीलैंड की पारी ऐसी ढही कि 38 रन जोड़ने में उसने 5 विकेट खो दिए. 9वें विकेट के लिए मिल्स और नील मैक्कुलम में 67 रन की साझेदारी जरूर हुई जिससे भारतीय गेंदबाजों को थोड़ी देर के लिए पसीना आ गया लेकिन मैच जीतने के लिए वो नाकाफी थी.

Yuvraj Singh

रॉस टेलर ने बताया, "स्कॉट स्टायरिस और ग्रांट इलियट का विकेट गिरना हमारे लिए खराब मौका था जिससे मैच पर पकड़ ढीली हो गई." ब्रैंडन मैक्कुलम और कप्तान डेनियल वेटोरी गुवाहाटी वनडे में नहीं खेले क्योंकि उनकी कमर में दर्द है. टेलर ने कहा है कि उनके फिटनेस पर नजर रखी जा रही है और वह आने वाले मैचों में खेल सकते हैं. भारत ने गुवाहाटी में पहले खेलते हुए 276 रन बनाए जिसके जवाब में न्यूजीलैंड 236 रन ही बना पाया. विराट कोहली ने 105 रन ठोंके.

टेलर ने भारत के शतकवीर विराट कोहली की तारीफों के पुल बांधने में कोई कमी नहीं की. वैसे आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम के लिए कोहली और टेलर एक साथ खेलते हैं. टेलर के मुताबिक कोहली ने शानदार बल्लेबाजी की और गेंदबाजों को कोई मौका नहीं दिया. जिस तरह से उन्होंने पारी को संजोया वह काबिले तारीफ है. उन्हें युवराज सिंह का भी साथ मिला.

"पिछले एक साल में जैसा खेल विराट कोहली ने दिखाया है वह बेहतरीन है. मुझे उम्मीद है कि अगर वह ऐसा खेलते रहे तो टेस्ट क्रिकेट उनके लिए ज्यादा दूर नहीं होगा. उन्हें शतक बनाते देखना अच्छा था लेकिन यह देखकर दुख हुआ कि उन्होंने शतक हमारे खिलाफ जड़ा. मुझे उम्मीद है कि अगले मैच में उन्हें हम रोक लेंगे."

भारतीय टीम का कोई भी खिलाड़ी मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में शामिल नहीं हुआ. मैच खत्म होते ही कप्तान गौतम गंभीर निजी कारणों से नेहरू स्टेडियम से चले गए. टीम का कोई अन्य खिलाड़ी या कोच गैरी कर्स्टन भी प्रेस कांफ्रेंस में नहीं आए. आईसीसी नियमों के तहत मैच के बाद पत्रकार वार्ता में शामिल होना जरूरी होता है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए जमाल

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री