1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

विदेशियों के आने पर रोक लगाएगी नई डच सरकार

नीदरलैंड में द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद पहली बार अल्पमत सरकार बनी है और समर्थन के लिए उग्र दक्षिणपंथियों पर निर्भर प्रधानमंत्री मार्क रुटे ने विदेशियों के आने पर रोक लगाने का एलान किया है.

default

नए प्रधानमंत्री मार्क रूटे (बीच में)

रानी बेआट्रिक्स द्वारा मंत्रिमंडल को शपथ दिलाए ने के बाद मार्क रुटे ने कहा, "हम और बहुत सारे लोगों को आने नहीं दे सकते जिनके लिए कोई संभावना नहीं है." इस्लामविरोधी खैर्ट विल्डर्स की पार्टी द्वारा सरकार को बाहर से मिले समर्थन पर उन्होंने कहा कि वे इस समर्थन से खुश हैं.

Niederlande Holland Königin Beatrix Mark Rute Wahlen Regierung Minderheitenregierung

विल्डर्स की पीवीवी पार्टी रुटे की लिबरल दक्षिणपंथी वीवीडी पार्टी और क्रिश्चियन डेमोक्रैटिक सीडीए पार्टी के गठबंधन को सरकार में शामिल हुए बिना समर्थन दे रही है. विल्डर्स ने समर्थन देने के लिए इस्लामी देशों के विदेशियों के आने पर रोक लगाने की मांग की है.

43 वर्षीय प्रधानमंत्री रुटे ने कहा कि नीदरलैंड हमेशा शरणार्थियों के लिए खुला रहेगा, लेकिन संभावना के बिना इतने सारे लोगों को नहीं आने दिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस्लाम पर पार्टियों के अलग अलग विचार हैं, "सीडीए और वीवीडी के लिए इस्लाम धर्म है जबकि विल्डर्स की पार्टी के लिए वह एक राजनीतिक विचारधारा है."

यूरोपीय संघ ने रुटे को प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी है. यूरोपीय आयोग के प्रमुख होजे मानुएल बारोसो ने बधाई संदेश में लिखा है, "मुझे यूरोप के सामने उपस्थित समस्याओं के समाधान में आपके साथ सहयोग पर खुशी है." यूरोपीय संघ के अध्यक्ष हरमन फान रोमपॉय ने भविष्य के लिए पूरी सफलता की कामना की है. दोनों नेताओं ने सरकार को उग्र दक्षिणपंथी पीवीवी से मिल रहे समर्थन की चर्चा नहीं की है.

नीदरलैंड की 150 सदस्यों वाली संसद ट्वीड कामर में प्रधानमंत्री रुटे की पार्टी और क्रिश्चियन डेमोक्रैटों की सिर्फ 52 सीटें हैं. 1 सीट के बहुमत के लिए वे विल्डर्स की पीवीवी पार्टी पर निर्भर हैं जिनके 24 सांसद हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links