1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

विकीलीक्स की मुश्किलें बढ़ी

सनसनीखेज खुलासों से दुनिया भर में चर्चा में आए विकीलीक्स की मुसीबतों के दिन शुरू हो गए हैं. विकीलीक्स का डोमेन नाम जिस अमेरिकी कंपनी के पास था उसने उसे अपने सर्वर से मिटा दिया जिसके बाद करीब छह घंटे तक वेबसाइट बंद रहा.

default

विकीलीक्स डॉट ओआरजी अभी भी काम नहीं कर रहा है. इसकी जगह नया डोमेन नेम विकीलीक्स डॉट सीएच काम कर रहा है. हालांकि इस पर भी वेबसाइट के सारे पन्ने नहीं खुल रहे. इतना ही नहीं ये कितनी देर काम करेगा इसकी भी कोई गारंटी नहीं. विकीलीक्स डॉट सीएच नाम भी उसी अमेरिकी कंपनी एवरीडीएनएस डॉट कॉम के पास रजिस्टर है जिसके पास विकीलीक्स डॉट ओआरजी था और जिसने इसे सर्वर से मिटा दिया. विकीलीक्स फिलहाल स्विस डोमेन नेम के सहारे चल रही है.

NO FLASH Wikileaks Afghanistan

अमेजन ने अमेरिकी राजनेताओं के दबाव के बाद बुधवार को ही इसे सर्वर से मिटा दिया. इस बीच सीनेट ने एक प्रस्ताव पारित कर अमेरिकी फौज और खुफिया सेवा में काम करने वाले मुखबिरों के नाम छापने को गैरकानूनी बना दिया है. अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने विकीलीक्स द्वारा दस्तावेज जारी करने को 'दुनिया पर हमला' करार दिया है. इसके साथ ही हिलेरी ने पाकिस्तानी राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और अर्जेंटीना की राष्ट्रपति क्रिस्टीना किर्शनर से लीक हुई खबरों के लिए माफी भी मांगी है.

इधर फ्रांस की सरकार ने कहा है कि वो विकीलीक्स को फ्रांस के सर्वर से ब्लॉक करने के रास्ते तलाश रही है. फ्रांस के उद्योग मंत्री ने मंत्रालय के अधिकारियों को पत्र लिख कर कहा है कि विकीलीक्स फ्रांस की कंपनी ओवीएच के सहारे फिलहाल काम कर रही है क्योंकि अमेजन ने उसे ब्लॉक कर दिया है. उद्योग मंत्री एरिक बेसॉन ने लिखा है, "मैं आपलोगों से कह रहा हूं कि आप मुझे तुरंत वो तरीका बताएं जिससे कि इस इंटरनेट साइट का फ्रांस में होस्टिंग तुरंत खत्म कर दिया जाए. फ्रांस के जरिए ऐसी साइट का चलना कबूल नहीं है जो कूटनीतिक रिश्ते की गोपनीय बातों को सार्वजनिक कर लोगों की जान खतरे में डाल रहा है."

Julian Assange

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज

इस बीच किसी अज्ञात जगह से इंटरनेट के जरिए लोगों के सवालों का जवाब दे रहे जूलियान असांज की ये कोशिश नाकाम हो गई जब एक साथ बड़ी संख्या में लोगों ने सवाल पूछ कर सर्वर जाम कर दिया. ये बातचीत ब्रिटेन के गार्जियन मीडिया ग्रुप ने आयोजित की थी जो शुक्रवार दोपहर एक बजे से होनी थी. गार्जियन ने ही ट्विटर के जरिए इस बात की जानकारी दी कि विकीलीक्स अब स्विस डोमेन के सहारे चल रही है.

विकीलीक्स ने अमेरिकी कूटनीति से जुड़े करीब ढाई लाख दस्तावेजों को जारी कर पूरी दुनिया में अपने लिए दुश्मन बना लिए हैं. स्वीडन में विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के खिलाफ बलात्कार के आरोप में गिरफ्तारी का वारंट भी निकल चुका है. यहां तक कि इंटरपोल ने पूरे यूरोप में उनके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया है. इस बीच असांज कहां है इसके बारे में किसी को कोई खबर नहीं. समझा जाता है कि वो ब्रिटेन में किसी अज्ञात जगह पर रह रहे हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links