1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

विकीलीक्सः वेस्टरवेले घमंडी, मैर्केल टेफ्लॉन

विकीलीक्स के रहस्योद्घाटन ने जर्मन अमेरिकी संबंधों को भी मुश्किल में डाल दिया है. विदेश मंत्री गीडो वेस्टरवेले को अक्षम और चांसलर अंगेला मैर्केल को जोखिम न लेने वाला बताया गया है.

default

जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल

लीक किए गए दस्तावेजों में बर्लिन के अमेरिकी दूतावास से भेजे गए 1719 दस्तावेज भी शामिल हैं. जर्मन मीडिया में सवाल पूछा जा रहा है कि अमेरिकी राजनयिकों के गोपनीय डिस्पैच जर्मन राजनीतिज्ञों के बारे में क्या बताते हैं. दस्तावेजों में जर्मनी की नई सरकार के बारे में तीखी टिप्पणियां की गई हैं.

खासकर विदेश मंत्री गीडो वेस्टरवेले का अमेरिकी राजनयिकों ने नकारात्मक मूल्यांकन किया है. गोपनीय रिपोर्टों में उन्हें नकारा, घमंडी और अमेरिका आलोचक बताया गया है. अमेरिकी राजनयिक अपने सामने यह चुनौती देखते हैं कि एक राजनीतिज्ञ के साथ कैसे पेश आया जाए जो एक पहेली है, विदेशीनीति के कम अनुभवों वाला और अमेरिका के साथ विरोधाभासी संबंधों वाला है. सरकार बनने के कुछ सप्ताह बाद दिसंबर 2009 में भेजी गई एक रिपोर्ट में वेस्टरवेले को उत्साही व्यक्तित्व बताया जिसे चांसलर के साथ विवादास्पद मुद्दों पर पृष्ठभूमि में जाने में मुश्किल होती है.

रिपोर्टों में विदेशनीति के मुद्दों पर चांसलर कार्यालय को बेहतर सहयोगी बताया गया है और कहा गया है कि सरकार के कामकाज और विदेश नीति में चांसलर मैर्केल अधिक अनुभवी हैं. लेकिन अमेरिकी राजनयिकों की आलोचना में उन्हें भी बख्शा नहीं गया है.

अमेरिकी राजनयिक अंगेला मैर्केल को अंगेला 'टेफ्लॉन' मैर्केल बताते हैं क्योंकि उनके ऊपर कुछ ठहरता नहीं. 24 मार्च 2009 की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि "वह जोखिम से बचती हैं और शायद ही रचनात्मक हैं."

अमेरिकी दूतावास का रवैया जर्मनी की गठबंधन सरकार के लिए भी बहुत आलोचना भरा है. फरवरी 2010 की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि चांसलर ने महागठबंधन का जूआ हटाकर एफडीपी-सीएसयू का दुहरा जूआ कंधे पर डाल लिया है.

इन रिपोर्टों से यह भी साफ होता है कि अमेरिकी दूतावास के पास जर्मनी में सूचना का सघन जाल है. अक्टूबर 2009 में एक सूत्र ने गठबंधन वार्ता के दौरान भी कई बार सूचनाएं दीं. अमेरिकी राजदूत फिलिप मरफी ने अपनी एक रिपोर्ट में सूचना देने वाले को एक युवा और महात्वाकांक्षी पार्टी नेता बताया.

मरफी ने जर्मनी मीडिया के साथ बातचीत में अपनी रिपोर्टों को सामान्य कूटनीतिक काम बताया है. "हम लोगों से बात करते हैं, एक दूसरे से परिचित होते हैं, भरोसा करते हैं और एक दूसरे का आंकलन बताते हैं." उन्होंने कहा कि उनके कर्मचारियों ने कुछ भी गलत नहीं किया है और वे "उनके किए के लिए माफी नहीं मांगेगे."

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links