1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

विकलांगों की वर्कशॉप में आग लगी

जबरदस्त आग लगने के इस हादसे में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई और सात घायल हो गए. आग धमाके के बाद लगी और देखते ही देखते इसने विकराल रूप ले लिया. इस जगह पर विकलांगों की वर्कशॉप थी.

हादसा दक्षिणी जर्मनी के मशहूर टूरिस्ट सेंटर ब्लैक फॉरेस्ट में हुआ. कुकू घड़ियों के प्रसिद्ध टिटिसे-नॉएस्टाड में विकलांगों के लिए एक कार्यशाला थी, आग इसी में लगी.

पुलिस के मुताबिक स्टोर रूम में एक धमाका सुनाई पड़ा और आग लग गई. फायर ब्रिग्रेड के अधिकारी ने आग लगने के कारणों के बारे में कुछ नहीं कहा. करीब चार बजे के आस पास भड़की आग को बुझाने के लिए 100 दमकल कर्मचारी मौके पर पहुंचे.

धुएं के बीच सांस लेने वाले उपकरणों से लैस दमकल कर्मचारियों ने इमारत से कई विकलांगों और अन्य कर्मचारियों को बाहर निकाला. राहत और बचाव के काम में हेलीकॉप्टरों की भी मदद ली गई. 40 मिनट के भीतर इमारत को खाली करा लिया गया.

Brand in Behindertenwerkstatt im Schwarzwald

घटनास्थल पर मौजूद दमकल गाड़ियां

सेंटर में 120 लोग काम करते हैं. इनमें से ज्यादातर मानसिक या शारीरिक रूप से अक्षम हैं. वर्कशॉप की वेबसाइट के मुताबिक विकलांग सेंटर में धातु, लकड़ी और बिजली का काम करते हैं. वर्कशॉप एक धमार्थ संस्था चलाती है.

अभी यह साफ नहीं हुआ है कि स्टोर रूम में केमिकल रखे थे या नहीं. यह जरूर पता चला है कि स्टोर में काफी लकड़ी का सामान था.

ब्लैक फॉरेस्ट का इलाका मुख्य रूप से पर्यटन के लिए मशहूर हैं. यहां बॉलीवुड समेत कई देशों की फिल्में शूट होती है. टिटिसी केक और कुकू घड़ियों के लिए भी विश्व प्रसिद्ध है.

ओएसजे/ एमजी (डीपीए, एपी)

DW.COM