1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

विंबलडन में प्यार और तकरार

काले दिल, गंदे तलाक, शादी में बदलती मिक्स्ड डबल्स की जोड़ी और जीवन भर साथ रहने का करार दिलाता एक दिन का टिकट. इस बार विंबलडन कोर्ट के तूफान से नहीं दिलों की दुनिया की हलचल से भी गुलजार है.

हरी घास वाली कोर्ट पर टूर्नामेंट की पहली सर्विस से पहले ही सेरेना विलियम्स ने मारिया शारापोवा के दिल की कोर्ट पर शॉट मार दिया. रोलिंग स्टोन पत्रिका से सेरेना ने शारापोवा का नाम लिए बगैर कहा, "कुछ लोग हैं जो टेनिस जीते, सांस लेते और पहनते हैं. मेरा मतलब है कि अब यह बंद करिए. वह हर इंटरव्यू शुरू करती है, मैं बहुत खुश हूं, मैं बहुत किस्मत वाली हूं- यह बहुत उबाऊ है. उसे अब भी कूल पार्टियों में नहीं बुलाया जाएगा. और हां अगर वो उस काले दिल वाले शख्स के साथ रहना चाहती है तो जाए."

यह काले दिल वाला लड़का है ग्रिगोर दिमित्रोव. 30 शीर्ष खिलाड़ियों में शामिल बुल्गारियाई ग्रिगोर शारापोवा के बॉयफ्रेंड हैं लेकिन पहले उनका रोमांस विलियम्स के साथ चल रहा था. शारापोवा ने भी ताकतवर फोरहैंड के साथ रिटर्न मारा, "अगर वह निजी मामलों पर बात करना चाहती है तो उसे अपने बॉयफ्रेंड के बारे में बात करना चाहिए जो शादीशुदा, तलाक ले रहा है और उसके बच्चे हैं." खबर है कि विलियम्स का उनके फ्रेंच कोच पैट्रिक मोरातोग्लू के साथ रोमांस चल रहा है.

कोर्ट के बाहर दोनों शूरवीरों की हाथापाई विंबलडन पर भारी पड़ी और दोनों हार कर मुकाबले से बाहर हो गईं. विलियम्स को जाबिने लिसिकी ने चौथे दौर में हराया तो शारापोवा को पुर्तागाली बाला मिशेल लार्शर डे ब्रिटो ने टूर्नामेंट से बाहर किया. इन दोनों के बीच फंसे टूर में सबसे सेक्सी पुरुष कहे जा रहे दिमित्रोव ने जरूर कुछ अच्छा किया. वह दूसरे दौर में स्लोवेनिया के ग्रेगा जेमलिजा से हारे. विलियम्स के ताने के जवाब में दिमित्रोव ने कहा, "आप लोग ही मुझे बताइए मेरा दिल कैसा है. मैं यहां फिसलन वाली कोर्ट पर हूं, हम में से कितने घायल हुए, कितने बाहर गए, इन सब के बारे में बात करने के लिए हूं. मुझे नहीं लगता कि हमें उन सब के बारे में बात करना चाहिए." दिमित्रोव ने ग्लैमरस शारापोवा के वहां होने और उनकी ओर देखने पर खुशी जताई और यह भी कहा कि उनकी मौजूदगी से उन पर दबाव नहीं बढ़ता.

सात बार के विंबलडन चैम्पियन रोजर फेडरर को इस बार बाहर का रास्ता दिखाने वाले 27 साल के यूक्रेनी सर्गेई स्टाखोव्सकी की रैंकिंग दुनिया में 116 नंबर पर है. वैसे स्टाखोव्सकी के पास विंबलडन से खुश होने की और भी वजह है. तीन साल पहले वह यहीं अनफिसा बुल्गाकोवा से टूर्नामेंट के दौरान मिले और बाद में दोनों ने जीवन साथी बनने का फैसला कर लिया. स्टाखोव्सकी ने बताया, "2010 के विंबलडन में मेरी मां ने फोन कर कहा कि एक बहुत अच्छी लड़की है और वो विंबलडन में तुम्हें खेलते देखना चाहती है, अगर तुम उसे एक टिकट दिला सको तो. मैंने अनफिसा को एक टिकट दिलाया और फिर उसका मेरे पास फोन आया कि मैं विंबलडन में हूं और तुमसे मिलना चाहती हूं." उस दिन तो दोनों बस 10 मिनट के लिए ही मिले लेकिन दोनों को लगा कि कुछ और होना चाहिए. दोनों आपस में मैसेज भेजते रहे और फिर नवंबर 2010 में दोनों पैरिस में पहली डेट पर मिले और उसके अगले साल जनवरी में दोनों की शादी हो गई.

इस साल स्टाखोव्सकी का विंबलडन सफर तीसरे दौर में ऑस्ट्रिया के युर्गेन मेल्जर ने खत्म कर दिया. युर्गेन मेल्जर ने चेक खिलाड़ी इवेता बेनेसोवा के साथ विंबलडन में मिक्स्ड डबल्स खिताब जीता और इसके ठीक एक साल बाद यानी पिछले साल गर्मियों में उनके साथ शादी भी कर ली. कोर्ट पर बीवी के साथ जोड़ी कैसे काम करती है पूछने पर मेल्जर ने कहा, "इसके लिए मैच देखना होगा. जब हम पहली बार खेले तब एक दूसरे से जुड़े नहीं थे बस दोस्त थे. इस तरह से हम जीत गए. जिंदगी में, शादी में और कोर्ट में भी."

वैसे टेनिस की सबसे यादगार जोड़ी तो अब भी स्टेफी ग्राफ और आंद्रे अगासी की है जो बड़ी मजबूती के साथ एक दूसरे का साथ निभा रहे हैं और हां रोजर फेडरर की बीवी के लिए भी टेनिस कोर्ट अपरिचित नहीं.

एनआर/एजेए(एएफपी)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री