1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

विंबलडन में निगाहें एंडी मरे पर

दुनिया के सबसे प्रसिद्ध टेनिस टूर्नामेंट में शुरुआती दौर में ही कई बड़े सितारों के बाहर होने के बाद ब्रिटेन के एंडी मरे विंबलडन के सेंटर स्टेज पर हैं. वे इस साल 1936 के बाद ब्रिटेन के पहले विंबलडन चैंपियन बन सकते हैं.

अंतिम 16 में जगह बनाने के लिए मरे का मुकाबला सेंटर कोर्ट पर स्पेन के सीनियर खिलाड़ी टॉमी रोबरेडो से है. विश्व वरीयता में दूसरे नंबर के मरे पुरुषों के ड्रॉ में निचले हाफ में हैं, जिसमें सात बार चैंपियन रहे रोजर फेडरर, फ्रेंच ओपन के मोजूदा चैंपियन रफाएल नाडाल, छठे सीड वाले जो-विलफ्रीड सोंगा और 10वें सीड वाले मारिन चिलिच टूर्नामेंट से बाहर हो चुके हैं.

नतीजतन रैंकिंग के हिसाब से 15वें सीड वाले स्पेन के निकोलस अलमाग्रो मरे के सबसे निकटतम प्रतिद्वंद्वी हैं, लेकिन वे ऑल इंगलैंड क्लब में कभी खब तीसरे राउंड से आगे नहीं जा पाए हैं. मरे के आज के प्रतिद्वंद्वी रोबरेडो भी कभी भी टूर्नामेंट के दूसरे हफ्ते तक नहीं पहुंच पाए हैं.

मरे ने मैच से पहले कहा, "हर किसी पर ये धुन सवार थी कि टूर्नामेंट शुरू होने से पहले ड्रॉ कैसा था. अब हर कोई अपना विचार बदलना चाहता है क्योंकि कुछ लोग हार गए हैं." मरे का कहना है कि हर दिन अपसेट होता है रहता है, किसी भी मैच को कम गंभीरता से नहीं लिया जा सकता. "आपको हर मैच के लिए तैयार रहना पड़ता है. खेल में यही होता है."

Sabine Lisicki Wimbledon

लिजिकी

महिलाओं के ड्रॉ का निचला हिस्सा भी अपसेट का बुरी तरह शिकार हुआ है. विश्व नंबर दो विक्टोरिया अजारेंका घुटने की चोट के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो गईं तो 2004 की चैंपियन मारिया शारापोवा पुर्तगाल की क्वालिफायर मिशेल लार्चर डे ब्रिटो से हार गईं. इस हिस्से में बाकी बची सबसे ऊंची रैंकिंग वाली खिलाड़ी 2011 की चैंपियन पेत्रा क्वितोवा है, अंतिम 16 में पहुंचने के लिए जिसका मुकाबला रूस की एकातेरिना माकारोवा से है.

जर्मनी के खिलाड़ियों में सबीने लिजिकी अपने पसंदीदा टूर्नामेंट में फुल फॉर्म में है. उन्होंने 61 मिनट में रूस की येलेना वेसनीना को 6-3,6-1 से हरा दिया और तीसरे राउंड में पहुंची. दूसरे जर्मन खिलाड़ी टॉमी हास और ऑन्जेलिक कैर्बर बदनाम ब्रिटिश बरसात के शिकार बन गए. तीसरे राउंड में पहुंचने के लिए अपना मैच खेलने के बदले उन्हें घंटों तक बारिश के रुकने का इंतजार करना पड़ा. अंत में कैर्बर और एस्तोनिया की काया कानेपी तथा हास और ताइवान के जिम्मी वांग का मुकाबला शुक्रवार तक टाल दिया गया.

गुरुवार को सिर्फ विश्व नंबर एक नोवाक जोकोविच का मैच हो पाया. सर्बिया के 26 वर्षीय जोकोविच ने सेंटर कोर्ट पर ढके हुए स्टेडियम में हुए मैच में अमेरिका के बॉबी रेनॉल्ड्स को 7-6,6-3,6-1 से हराया. क्वार्टर फाइनल में लिजिकी की संभावित प्रतिद्वंद्वी सेरेना विलियम्स ने फ्रांस की कारोलीन गार्सिया को आसानी से 6-3,6-2 से हरा दिया. उनका मुकाबला अब जापान की 42 वर्षीया किमिको डाटे-क्रुम से होगा जो 1968 के बाद से तीसरे राउंड में पहुंचने वाली सबसे ज्यादा उम्र वाली प्रतिस्पर्धी हैं.

एमजे/एएम(डीपीए,रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री