1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

वाममोर्चे पर राहुल ने निशाना साधा

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में सोमवार को अपनी पहली राजनीतिक रैली में कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने राज्य में सीपीएम की अगुवाई वाली वाममोर्चा सरकार पर केंद्रीय धन की बर्बादी का आरोप लगाते हुए उसकी जम कर खिंचाई की.

default

कम्युनिस्टों पर हमला

राहुल यहां युवा कांग्रेस के सदस्यता अभियान की शुरूआत करने आए थे. महानगर के शहीद मीनार मैदान में आयोजित इस रैली के लिए सुरक्षा का जबरदस्त इंतजाम किया गया था.

यहां राजनीतिक हलकों में राहुल की इस रैली को काफी अहम माना जा रहा है. अगले साल राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस ने अपनी सहयोगी तृणमूल कांग्रेस की छाया से निकल कर संगठन को मजबूत बनाने की जो कवायद शुरू की है, राहुल की रैली उसी का हिस्सा है. राहुल गांधी इस महीने के दूसरे या तीसरे सप्ताह के दौरान एक बार फिर बंगाल का दौरा करेंगे. उस समय वे तीन दिनों तक विभिन्न जिलों में रैलियों को संबोधित करेंगे. उनके अलावा इस महीने की 25 तारीख को यहां पार्टी के पूर्वी क्षेत्रीय सम्मेलन में सोनिया गांधी भी शिरकत करेंगी.

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि केंद्र सरकार विभिन्न मदों में राज्य को जो सहायता देती है वह सीपीएम के हाथों में चला जाता है. उसका एक हिस्सा भी जनता तक नहीं पहुंचता. उन्होंने आरोप लगाया कि बंगाल में भी अमीरों व गरीबों के बीच की खाई बढ़ रही है. यहां 45 फीसदी लोगों के पास राशन कार्ड नहीं हैं. बीपीएल सूची में भी गरीबों की बजाय सीपीएम के नेताओं और कार्यकर्ताओँ के नाम शामिल हैं.

राहुल ने कहा कि अब बंगाल में सीपीएम के दिन पूरे हो गए हैं. यहां जल्दी ही बदलाव आने वाला है. पूर्व सोवियत संघ में साम्यवाद के पतन का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बंगाल में भी ऐसा ही होगा. रूस की तरह यहां भी एक दिन में ही साम्यवाद खत्म हो जाएगा. कांग्रेस नेता ने बदलाव और नया भारत गढ़ने के लिए युवकों से अधिक से अधिक तादाद में राजनीति में आने की अपील की.

इस रैली को राहुल के अलावा केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी और बंगाल कांग्रेस के प्रभारी केशव राव ने भी संबोधित किया. लेकिन किसी ने भी अपनी सहयोगी तृणमूल कांग्रेस या उसकी नेता ममता बनर्जी का कोई जिक्र तक नहीं किया.

रिपोर्ट: प्रभाकर मणि तिवारी, कोलकाता

संपादन: उ भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री