1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वापसी की तैयारी में रियाल

सपनों को साकार करने के लिए जी जान झोंकनी पड़ती है. चैंपियंस लीग में सेमीफाइनल के फर्स्ट लेग में जर्मन क्लबों के हाथों पिटने वाले रियाल मैड्रिड और बार्सिलोना की हालत कुछ ऐसी ही है.

बीते हफ्ते खेले गए फर्स्ट लेग के मैच में बार्यन म्यूनिख ने स्पेनी क्लब बार्सिलोना को 4-0 से रौंदा. वहीं दूसरे जर्मन क्लब बोरुसिया डॉर्टमुंड ने रियाल मैड्रिड को 4-1 से धोया. दोनों मैच जर्मनी में खेले गए. अब सेकेंड लेग में मंगलवार को रियाल मैड्रिड को अपने शहर मैड्रिड में डॉर्टमुंड से भिड़ना है. अगर रियाल मैड्रिड को फाइनल तक पहुंचना है तो उसे हर हालत में जर्मन क्लब को 3-0 से हराना होगा. साथ ही हर कीमत पर गोल खाने से बचना होगा.

बार्सिलोना की भी हालत गंभीर हैं. उसे भी बिना गोल खाए जर्मन लीग चैंपियन बायर्न म्यूनिख को 5-0 से हराना होगा. बार्सेलोना के प्रमुख सांद्रो रोसेल ने कहा, "फुटबॉल में सब कुछ मुमकिन है. सब को इसी पर विश्वास करना चाहिए." आज तक चैंपियंस लीग में कोई भी टीम 4-0 से पिछड़कर वापस जीत की राह पर नहीं आ सकी है. टीम के पास लियोनेल मेसी है जो अच्छे फॉर्म में दिख रहे हैं. हालांकि टीम के डिफेंडर कार्लेस पुयोल और खावियेर माशेरानो दोनों घायल हैं और उनकी जगह किसी और को लेनी होगी.

बार्सेलोना को शायद इस बात से सांत्वना मिले कि ऐसा पहले तीन बार हो चुका है. 1985-86 के यूएफा कप में रियाल मैड्रिड की टीम बोरुसिया मोएन्शेनग्लाडबाख से 5-1 से हार गई लेकिन फिर 4-0 से जीतकर विजयी बनी. पार्टिसन बेलग्रेड 1984-85 में 6-2 से हारी लेकिन फिर 4-0 से अपने देश में जीत गई. इसी तरह पुर्तगाली टीम लेइक्सोस 1961-62 में स्विस टीम शो दे फोंस से 6-2 से हारी लेकिन फिर 5-0 से आगे बढ़ गई. बायर्न म्यूनिख के कोच युप हाइंकेस पिछले हफ्ते की हार के बाद भी बार्सेलोना की टीम को सबसे अच्छा मानते हैं. बायर्न के मिडफील्डर फ्रांक रिबेरी का कहना है कि उन्हें इस मैच के लिए भी कड़ी मेहनत करनी होगी.

उधर रियाल के स्टार स्ट्राइकर रोनाल्डो डॉर्टमुंड के खिलाफ खेल के लिए फिट हैं. इस बीच जर्मन टीम डॉर्टमुंड के कोच ने रियाल को हराने वाली अपनी टीम में 10 बदलाव किए हैं. इनके बावजूद टीम ने फॉर्चूना डुसेलडॉर्फ के खिलाफ पिछले दिनों अच्छा प्रदर्शन दिखाया और पूरे फॉर्म में दिख रही है. पिछले हफ्ते डॉर्टमुंड के खिलाफ 4-1 से हारने के बाद रोनाल्डो घायल हो गए थे. लेकिन कोच जोसे मोरीन्यो का कहना है कि वह मंगलवार के खेल में खेल सकेंगे. वैसे रियाल की टीम भी आम टीमों जैसी नहीं है. रियाल ने पहले भी अपनी हार को जीत में बदला है और टीम मानती है कि वह डॉर्टमुंड के खिलाफ भी करिश्मा äbäदिखाने में कामयाब रहेगी. मैड्रिड के अखबार लोगों को बार बार याद दिलाने में लगे हैं कि रियाल कितनी अच्छी टीम है. 1975 में वे चैंपियंस कप के दूसरे राउंड में 4-0 से डर्बी काउंटी में हारे लेकिन फिर 5-1 से जीत गए. 1984 के यूएफा कप में वे आंदरलेख्त में 3-0 से हारे लेकिन फिर 6-1 से दूसरी मैच जीतकर ट्रोफी भी घर ले गए. 1985 में वे थर्ड लेग में बोरुसिया से 5-1 से हारे लेकिन दूसरे लेग में 4-0 से जीत गए.

जर्मनी के मिडफील्डर सामी खेदीरा ने अपनी टीम रियाल के बारे में कहा, "(स्पेन के स्टेडियम)एस्तादियो बेरनाबेऊ में रियाल ने अच्छे दिन देखे हैं, खासकर चैंपियंस लीग के दौरान." खदीरा का कहना है कि उनकी टीम को शुरुआती गोल करने पड़ेंगे लेकिन साथ ही संयम से काम लेना होगा.

रिपोर्टः एमजी/एनआर (रॉयटर्स, डीपीए)

DW.COM

WWW-Links