1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वाघा पर भारत-पाक टेनिस की पहल

क्रिकेट में तो उनकी प्रतिद्वंद्विता दर्शकों को बांधे रखती है, पर टेनिस में दोनों देशों के खिलाड़ियों की जोड़ी कुछ समय से सूर्खियों में है. बोपान्ना और कुरेशी ने अब वाघा बॉर्डर पर एक भारत-पाक टेनिस मैच के लिए अपील की है.

default

बोपन्ना-कुरैशी की जोड़ी

गुरुवार को जारी की गई एक अपील में भारत के रोहन बोपन्ना और पाकिस्तान के असलम हक कुरैशी ने दोनों देशों की सरकारों से अपील की है कि वे वाघा सीमा चौकी पर एक टेनिस मैच के आयोजन की अनुमति दें.

इंडो-पाक एक्सप्रेस के नाम से प्रसिद्ध यह टेनिस जोड़ी डबल्स मैचों में शानदार कामयाबी हासिल कर चुकी हैं. उन्हें उम्मीद है कि उनकी मिसाल दोनों देशों के बीच कड़वेपन को दूर करने में मददगार साबित हो सकती है. उन्होंने स्टॉप वार स्टार्ट टेनिस नाम से एक मुहिम छेड़ी है. इसी के अंतर्गत वे वाघा सीमा चौकी पर एक सांकेतिक टेनिस मुकाबले का आयोजन करना चाहते हैं.

कुरैशी ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय टेनिस फेडरेशन उनकी इस मुहिम का समर्थन कर रहा है. इसी प्रकार उन्हें मोनाको के प्रिंस अलबर्ट के नेतृत्व वाली गैर सरकार संस्था पीस ऐंड स्पोर्ट की ओर से भी समर्थन मिल रहा है.

" हम काफी कुछ हासिल कर सके हैं. आईटीएफ हमारी पहल के साथ है और हमें पीस ऐंड स्पोर्ट का भी समर्थन मिल रहा है. अब हमने दोनों देशों की सरकारों के पास चिट्ठियां भेजी है " - असलम हक कुरैशी ने कहा. उनका कहना था कि यह एक राजनीतिक मसला है और इसके साथ सुरक्षा के सवाल जुड़े हुए हैं. उन्हें उम्मीद है कि दोनों देशों की ओर से उन्हें हरी झंडियां दिखाई जाएंगी और वे सीमा चौकी पर खेल का आयोजन कर सकेंगे.

कुरैशी और बोपान्ना की जोड़ी पिछले साल यूएस ओपन के फाइनल तक पहुंची थी. कुरैशी ने ध्यान दिलाया कि भारत और पाकिस्तान के राजदूत उनका मैच देखने आए थे, और इस बार भी वे उनकी पहल का समर्थन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि चीजें सही दिशा में जा रही हैं और उन्हें उम्मीद है कि इस साल मैच का आयोजन हो सकेगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उ भट्टाचार्य

संपादन: एन रंजन

DW.COM

WWW-Links