1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

वाईफाई देश नियोई से रिश्ता जोड़ेगा भारत

नियोई दुनिया का ऐसा पहला देश है जिसने अपने सभी नागरिकों को सात साल पहले ही इंटरनेट की सुविधा दी. वैसे न्यूजीलैंड के पास बसे नियोई की आबादी दो हजार भी नहीं है. अब भारत उसके साथ राजनयिक संबंध कायम करेगा.

default

भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने बुधवार को लोकसभा में बताया कि नियोई ही दुनिया में अकेला ऐसा देश है जिसके साथ अब तक भारत के राजनयिक संबंध नहीं हैं. लेकिन अब दोनों देश राजनयिक संबंध स्थापित करना चाहते हैं. न्यूजीलैंड से लगभग ढाई हजार किलोमीटर की दूरी पर दक्षिण प्रशांत महासागर में बसे इस छोटे से द्वीपीय देश को 'रॉक ऑफ पॉलिनेसिया' के नाम से भी जाना जाता है.

एक सवाल के लिखित जवाब में कृष्णा ने कहा, "अगला कदम जल्द से जल्द दोनों देशों के बीच इस मुद्दे पर बातचीत करना है." नियोई की अपनी अलग सरकार है लेकिन उसे पूरी तरह संप्रभुता हासिल नहीं है. वह न्यूजीलैंड मुक्त संघ का हिस्सा है. ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय नियोई की राष्ट्राध्यक्ष हैं. 260 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल वाले इस देश की आबादी दो हजार से भी कम है.

वैसे नियोई टेक्नॉलजी के मामले में खासा आगे है. उसने 2003 में ही अपने सभी नागरिकों को वायरलेस इंटरनेट की सुविधा दे दी. इस तरह वह दुनिया का पहला वाईफाई राष्ट्र बन गया.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः वी कुमार