1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वह बिजली है, वह चीता है, वह रोनाल्डो है

वह विपक्षी टीम को 90 मिनट तक डरा कर रखने वाली कड़कड़ाती बिजली हैं. रिकॉर्ड और मुंहमांगी कीमत उनका पीछा करती हैं. वो क्रिस्टियानो रोनाल्डो हैं. 25 साल के इस करिश्मा का नाम सरहदों के परे, दीवानगी की इम्तिहां तक मशहूर है.

default

रोनाल्डो इस वक्त दुनिया के सबसे मंहगे खिलाड़ियों में शामिल हैं और पुर्तगाल के कप्तान हैं. लुई फिगो की विरासत का जिम्मा वर्ल्ड कप में रोनाल्डो के कंधों पर है. रोनाल्डो जब बीते साल टखने और घुटने की चोट से जूझ रहे थे तो पुर्तगाली टीम वर्ल्ड कप के क्वालिफाइंग मैचों से पार पाने के लिए छटपटा रही थी. लेकिन भाग्य ने सहारा दिया और पुर्तगाल फुटबॉल के महाकुंभ तक पहुंच गया.

कप्तान रोनाल्डो को अपनी धुरी समझने वाली इस टीम के हौसले अब बुलंद हैं. टीम से ज्यादा प्रशंसक अकेले रोनाल्डो के हैं. जर्मनी और फ्रांस जैसे देशों में उनके नाम की टी-शर्ट खूब बिकती हैं. भारत में कई युवाओं के वह ऑर्कुट या फेसबुक चेहरे हैं. ऐसे ही माहौल में अब रोनाल्डो को फाइनल शो दिखाना है.

Fußball Cristiano Ronaldo Genf Flash-Galerie

वर्ल्ड कप खेल रही टीमें और खिलाड़ियों से इस फॉरवर्ड प्लेयर का अचंभा छुपा नहीं है. विपक्षी टीम और कोच जानते हैं कि मैदान में चीते जैसी फुर्ती और तेंदुए जैसी अचूकता से वार करने वाला यह खिलाड़ी 40 गज दूर से गेंद गोलपोस्ट में दाग देता है. पैर चलाने के बाद उनके हाथ कप उठाने और होंठ उसे चूमने के लिए बेताब रहते हैं.

रोनाल्डो को पिछले साल स्पेन के क्लब रियाल मैड्रिड ने 9.4 करोड़ यूरो में खरीदा था यानी लगभग साढ़े पांच अरब रुपये. इस सौदे के बाद उन्हें जब पहली बार सामने लाया गया तो एक पल में रोनाल्डो के 80,000 प्रशंसकों का जमावड़ा लग गया.

लेकिन फीफा और यूएफा समेत फुटबॉल जगत के कई नामी पुरस्कार पा चुके रोनाल्डो के सामने इस वर्ल्ड कप में चुनौतियां कम नहीं हैं. अर्जेंटीना के लायोनल मेसी, इंग्लैंड के वेन रूनी और ब्राजील के रोनाल्डिनियो, ये सभी सितारे खेल और लोकप्रियता के लिहाज से उन्हें कड़ी टक्कर देने के लिए तैयार हैं. फुटबॉल खेलते प्रतिभाशाली बच्चों को स्टार खिलाड़ी बनाने वाले कोच भी मैचों से ज़्यादा इन खिलाड़ियों की आपसी टक्कर पर नज़रें गड़ाए बैठे हैं.

Cristinao Ronaldo bei Real Madrid im Santiago Bernabeu Stadion

मुख्य मुकाबला मेसी और रोनाल्डो के बीच है. क्लब मुकाबलों में भी दोनों कट्टर प्रतिद्वंदी टीमों से खेलते हैं. प्रशंसक दोनों को सुपर ह्यूमन कहते हैं और बेहतर कौन है इस पर कभी न खत्म होने वाली बहस छिड़ी रहती है. खुद ये दोनों खिलाड़ी भी एक दूसरे पर चुटकी या व्यंगबाण छोड़ते रहे हैं. रोनाल्डो से एक बार जब यह पूछा गया कि मेसी और आप में बड़ा खिलाड़ी कौन हैं तो उन्होंने जवाब दिया, "यकीनन मैं, लंबाई और चौड़ाई में मेसी से बड़ा हूं. ये तय है. मेसी एक जबरदस्त खिलाड़ी हैं."

मेसी ने इसका जवाब बार्सिलोना को यूएफा कप जितवा कर दिया. रोनाल्डो और उनकी टीम तत्कालीन टीम मैनचेस्टर यूनाटेड को हराने के बाद मेसी ने कहा, "मैं पैसे के लिए नहीं खेलता."

वैसे बीते एक साल में रोनाल्डो का प्रदर्शन बेहद चमकदार नहीं रहा है. तेज तर्रार खेल और फ्री किक के माहिर इस खिलाड़ी पर अब भी पेनल्टी शूट में अक्सर चूकने के आरोप लगते हैं. खेल के जानकार कहते हैं कि हाल के समय में उनका खेल ढलान पर आया है. इसके लिए चोटों को जिम्मेदार माना जाता है. विपक्षी टीमें खेल के दौरान रोनाल्डो को भड़काने में भी कामयाब रही हैं, जिसकी वजह वह धक्का मुक्की करते हुए मैचों से बाहर हो चुके हैं. लेकिन इन सबके वाबजूद वह अब भी क्लब मुकाबलों के एक सीजन में सबसे ज़्यादा गोल ठोंकने वाले यूं ही नहीं हैं, आखिकार वो क्रिस्टियानो रोनाल्डो हैं.

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री