1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वर्ल्ड कप स्टेडियम का टेस्ट नहीं हुआ

फुटबॉल वर्ल्ड कप शुरू से दो हफ्ते पहले स्टेडियम की पूरी जांच मुश्किल होती जा रही है. फीफा का उद्घाटन वाले स्टेडियम की पूरे दर्शकों के साथ टेस्ट की संभावना घट रही है.

रविवार को ब्राजील लीग के मैच में स्टेडियम की पूरी क्षमता की जांच की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन औपचारिक बाधाओं के कारण अब इस मैच के लिए सिर्फ 40,000 टिकटें बेची जा रही हैं. इमारतों को सर्टिफिकेट देने वाले अधिकारियों ने स्टेडियम में लगाए गए कामचलाऊ सीटों को अभी तक मंजूरी नहीं है.

फीफा चाहता था कि 12 जून को ब्राजील और क्रोएशिया के बीच वर्ल्ड कप के उद्घाटन मैच में 70,000 लोगों के आने से पहले एक बार स्टेडियम का परीक्षण हो जाए. इस महीने के शुरू में हुए पहले टेस्ट में कामचलाऊ सीटों का इस्तेमाल नहीं किया गया था. उस मैच में सिर्फ 37,000 टिकट बेचे गए थे.

अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल संघ फीफा ने टूर्नामेंट से ठीक पहले स्टेडियम में एक मैच कराने की रियायत इसलिए दी कि स्टेडियम की पूरी क्षमता में टेस्ट कराने को जरूरी माना गया. फीफा के महासचिव जेरोम वाल्के ने पिछले हफ्ते कहा था कि इताक्वेराओ स्टेडियम में मैच की सामान्य परिस्थितियों में सुविधाओं की जांच जरूरी है. फीफा ने कहा कि स्टेडियम का एक और टेस्ट पहले मैच को दिए जाने वाले ध्यान के कारण जरूरी है क्योंकि उसमें बहुत से सरकार प्रमुख भी भाग लेते हैं.

इस दूसरे टेस्ट में स्टेडियम की पूरी सीटें नहीं बेचे जाने की पुष्टि गुरुवार को स्टेडियम के संचालक कोरंथियंस ने की. क्लब ने सारी टिकटें बेचने के लिए जरूरी सरकारी क्लीयरेंस नहीं ली है. फीफा ने इस बदलाव पर तुरंत कोई टिप्पणी नहीं की है लेकिन विश्व कप आयोजन समिति ने कहा है कि उसे अभी भी स्टेडियम का पूरा टेस्ट किए जाने की उम्मीद है. समिति ने एक ईमेल में कहा, "रविवार को कोरंथियंस और बोटाफोगो के बीच होने वाले मैच में कामचलाऊ सीटों के इस्तेमाल का विचार है, लेकिन वह जरूरी तकनीकी क्लीयरेंस मिलने पर निर्भर है."

आयोजन समिति ने स्पष्ट किया है कि अधिकारियों से क्लीयरेंस लेने की जिम्मेदारी कोरंथियंस की है. इताक्वेराओ स्टेडियम में दूसरा टेस्ट पहले गुरुवार को होने वाला था, लेकिन अधिकारियों ने कहा कि मैच से काम के दिन शहर के ऑपरेशनल रूटीन में बाधा पड़ेगी. स्थानीय आयोजकों ने स्वीकार किया है कि 18 मई को हुए पहले परीक्षण में छत से पानी टपकने जैसी कुछ समस्याएं थीं, लेकिन कुल मिलाकर वे आयोजनस्थल से संतुष्ट थे.

इस बीच वाल्के ने तैयारी का अंतिम जायजा लेने के लिए गुरुवार को वर्ल्ड कप का आयोजन करने वाले ब्राजील के सभी 12 मेजबान शहरों का दौरा पूरा कर लिया. दो हफ्ते तक चले इस दौरे के दौरान उन्होंने पोर्टो अलेग्रे, नाटाल और साओ पाउलो में चल रहे काम पर चिंता व्यक्त की, लेकिन कहा कि बाकी नौ आयोजनस्थलों से वे संतुष्ट हैं.

एमजे/एजेए (एपी)

संबंधित सामग्री