1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वर्ल्ड कप से पहले फिक्सिंग का साया

ऑस्ट्रेलिया के साथ न्यूजीलैंड क्रिकेट वर्ल्ड कप आयोजित करने वाला है. इससे पहले मैच फिक्सिंग का मामला तूल पकड़ रहा है. आईसीसी को फिक्सिंग की जानकारी दे रहे न्यूजीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैक्कुलम का वीडियो लीक हो गया है.

मैक्कुलम का कहना है कि उन्हें इस बात का अफसोस नहीं कि वीडियो लीक हो गया है. उनसे पूछताछ हो रही है कि "प्लेयर एक्स" उनसे 2008 में एक मैच को फिक्स करने के लिए करार करना चाहता था. प्लेयर एक्स एक बड़ा क्रिकेट खिलाड़ी रह चुका है. मैक्कुलम ने फिक्सिंग में किसी तरह का हाथ होने से इनकार किया है, "अभी लंबी दूरी तय करनी है. काफी साल हो गए और आने वाला वक्त भी मुश्किल भरा होगा. लेकिन जांच में मेरा सहयोग जारी रहेगा."

मैक्कुलम ने इस बात पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया कि क्या प्लेयर एक्स न्यूजीलैंड के क्रिस केर्न्स हैं. केर्न्स कह चुके हैं कि उनका नाम प्लेयर एक्स से जोड़ा जा चुका है. क्रिकेट की अंतरराष्ट्रीय संस्था आईसीसी ने इस लीक की जांच शुरू कर दी है. इसके प्रमुख एलेन आइजक का कहना है कि वे नहीं चाहते कि मीडिया के पास अगर कुछ और जानकारी है, तो वह फिलहाल सार्वजनिक हो, "हम चाहते हैं कि उन्हें रोका जाए क्योंकि यह असहयोग वाला कदम है."

Der neuseeländische Cricketspieler Chris Cairns

सवालों के घेरे में क्रिस केर्न्स

आइजक ने मैक्कुलम से माफी मांगी और कहा कि वह किसी तरह जांच के दायरे में नहीं हैं.

पिछले साल दिसंबर में आई रिपोर्ट के मुताबिक क्रिस केर्न्स और न्यूजीलैंड के पूर्व बल्लेबाज लू विन्सेंट के अलावा डैरेल टफी को मैच फिक्सिंग के एक मामले में जोड़ा गया. आरोप है कि 2008 से 2012 के बीच पांच देशों में खेले गए मैचों को फिक्स किया गया.

मैक्कुलम का कहना है कि उनके सामने करीब दो लाख डॉलर (120 करोड़ रुपये) की पेशकश की गई. इस मामले में विंसेंट की पूर्व पत्नी एलानोर रिली का नाम भी शामिल है. मैक्कुलम ने बताया कि किस तरह उन्हें इंग्लैंड के बर्मिंघम शहर में एक कार में घुमाया गया और उस दौरान वह एक बस्ते में भरे मैच फिक्सिंग के पैसे को इकट्ठा करना चाहती थी. जांच का जो वीडियो लीक हुआ है, उसमें मैक्कुलम कह रहे हैं, "मैं कार में बैठा था और अपना हूड ऊपर कर दिया था. मुझे बहुत डर लग रहा था."

केर्न्स और टफी ने फिक्सिंग में शामिल होने से पूरी तरह इनकार कर दिया है. जबकि बताया जाता है कि विंसेंट ने फिक्सिंग में शामिल होने की बात कबूल ली है और सरकारी गवाह बनने को तैयार हो गया है.

इस बीच न्यूजीलैंड के महान बल्लेबाज मार्टिन क्रो ने जांच की मियाद पर सवाल उठाया है और कहा है कि इसे वर्ल्ड कप से पहले पूरा हो जाना चाहिए, "मैं इस बात की कल्पना नहीं करना चाहता कि वर्ल्ड कप यहां हो और उस दौरान इन बातों की चर्चा हो."

आइजक ने किसी निश्चित समय सीमा में जांच पूरी करने का वादा नहीं किया है. लेकिन यह भी कहा है कि इसका असर वर्ल्ड कप पर नहीं पड़ेगा, "हम नहीं मानते कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसका ज्यादा असर पड़ने वाला है. बल्कि इससे घरेलू लीग को ज्यादा जोखिम है."

एजेए/एएम (एएफपी)