1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वर्ल्ड कप फाइनलः हाफ टाइम तक स्पेन नीदरलैंड्स 0-0

फीफा वर्ल्ड कप 2010 के फाइनल का महामुकाबला स्पेन और नीदरलैंड्स के बीच जारी. हाफ टाइम तक कोई टीम गोल नहीं कर सकी. दोनों टीमों में कांटे की टक्कर. अब तक दोनों में से कोई टीम वर्ल्ड कप फाइनल नहीं जीती है.

default

मैच के पहले स्पेन के स्टार स्ट्राइकर और अब तक वर्ल्ड कप में पांच गोल करने वाले डेविड विया का कहना है कि उनकी टीम हॉलैंड को गेंद के लिए तरसाने की कोशिश करेगी. विया के मुताबिक अगर स्पेन सेमीफाइनल जैसा खेल दिखाता है तो जीत पक्की है.

दोनों टीमों के ज्यादातर खिलाड़ी एक ही फुटबॉल अकादमी से निकलकर स्टार बने हैं. यह खिलाड़ी अच्छे से एक दूसरे का खेल जानते हैं. टीम के स्टार स्ट्राइकर डेविड विया का कहना है, ''अगर खेल के दौरान ज्यादातर समय हम अपने पास बॉल रख पाए तो हमारी जीत पक्की है. जर्मनी के खिलाफ सेमीफाइनल में हमने यही किया था.''

लेकिन स्पेन को हॉलैंड के हल्ला बोल अंदाज का भी अच्छे से एहसास है. दो बार वर्ल्ड कप के फाइनल में हारने वाली हॉलैंड की टीम इस बार मजबूत इरादों से मैदान में उतरी है. इस वर्ल्ड कप में उसने एक भी मैच नहीं हारा है. हॉलैंड के खिलाफ रणनीति का इशारा करते हुए विया कहते है, ''डच टीम आक्रमक अंदाज में खेलती है. वह उसी अंदाज को पंसद करते हैं. ऐसे में हमारी कोशिश होगी कि हम उन्हें बॉल ही न दें. अगर ऐसा हुआ तो हॉलैंड को बॉल छीनने में ही बहुत मुश्किल होगी.''

Südafrika WM 2010 Fußball Niederlande gegen Slowakei Flash-Galerie

पूर्व दिग्गज खिलाड़ी और अन्य देशों के कोच भी बंटे हुए दिखाई पड़ रहे हैं. फुटबॉल कवर करने वाले नामी गिरामी पत्रकार स्पेन का दावा मजबूत बता रहे हैं. लेकिन सबको यह एहसास है कि कई बार हॉलैंड की टीम दिव्य खेल दिखा देती है. वर्ल्ड कप के फाइनल तक हॉलैंड ब्राजील जैसी टीम को हराकर पहुंचा है. एक गोल से पिछड़ने के बावजूद हॉलैंड ने ब्राजील को पटखनी दी. डच टीम के स्टार खिलाड़ी वेस्ले स्नाडर भी वर्ल्ड कप में पांच गोल दाग चुके हैं. हॉलैंड की खासियत यह भी है कि टीम मुश्किल से मुश्किल वक्त में अद्भुत अंदाज में गोल ठोक देती है. रॉबन भी पूरी लय में हैं.

वर्ल्ड कप में स्पेन अपना पहला मैच हारा था. ग्रुप स्टेज में स्विटजरलैंड जैसी टीम ने स्पेन के छोटे छोटे पास देने की रणनीति को तोड़कर जीत हासिल की थी.

स्पेन के लिए चिंता की बात एक और है. टीम ने भले ही जर्मनी को हराया लेकिन उस दिन जर्मन टीम मिडफील्ड में एकदम नाकाम साबित हुई थी. जर्मन टीम कभी कभार ही गेंद अपने गोल से स्पेन के गोल तक ले जा पाई. ऐसे खेल के बावजूद स्पेन को पहले गोल के लिए 73 मिनट तक इंतजार करना पड़ा.

हॉलैंड के आर्यन रॉबन और स्नाइडर के सामने स्पेन के विया, फर्नांडों टोरेस और पुयोल की तिकड़ी है. अखबार और टेलीविजन चैनल ऑक्टोपस और तोते की भविष्यवाणियों से भरे पड़े हैं. ऑक्टोपस पॉल का कहना है कि स्पेन जीतेगा, सिंगापुर का तोता हॉलैंड के साथ है. अब भविष्यवाणियों को सही या गलत साबित हॉलैंड और स्पेन के खिलाड़ियों के हाथ में है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री