1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

वर्ल्ड कप जीत कर इंग्लैंड ने इतिहास रचा

सीमित ओवरों के क्रिकेट इतिहास में इंग्लैंड ने अपनी छटा बिखेरते हुए पहली बार वर्ल्ड कप का ख़िताब अपने नाम किया है. वेस्ट इंडीज़ में ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराया और इतिहास रचा.

default

सात विकेट से जीता इंग्लैंड

ऑस्ट्रेलिया जैसी धाकड़ टीम को महज़ 147 रनों तक सीमित करने के बाद इंग्लैंड की जीत को निश्चित माना जा रहा था. लक्ष्य का पीछा करते समय पहला विकेट जल्दी ज़रूर गिरा लेकिन आख़िरकार जीत इंग्लैंड की ही हुई और जब उसने लक्ष्य हासिल किया तब तीन ओवर फेंके जाने बाक़ी थे.

Australien Cricket Meisterschaft Neuseeland

148 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की शुरुआत अच्छी नहीं रही और माइकल लुम्ब का विकेट जल्दी गिर गया. उस समय टीम के खाते में सिर्फ़ सात रन ही जुड़े थे. लेकिन क्रेग कीज़वैटर और केविन पीटरसन ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ों पर दबदबा बनाए रखा. पीटरसन ने 31 गेंदों का सामना किया और 4 चौके और 1 छक्का लगाया. 47 रन बनाकर पीटरसन तब आउट हुए जब उन्होंने स्टीवन स्मिथ की गेंद को उठाकर मारने का प्रयास किया और लॉन्ग ऑफ़ बाउंड्री पर वह लपके गए.

पीटरसन ने कीज़वैटर के साथ 111 रन की साझेदारी की. कीजवॉटर भी अच्छे टच में थे और उन्होंने 49 गेंदों में 2 छक्कों और 7 चौकों की मदद से 63 रन ठोंक दिए. लेकिन पीटरसन के पैवेलियन लौटते ही उनकी भी एकाग्रता भंग हुई और वह मिचेल जॉनसन की गेंद पर बोल्ड हो गए. इंग्लैंड की टीम के दो विकेट जल्दी जल्दी गिर जाने से थोड़ी देर के लिए संकट के बादल मंडराते दिखाई दिए लेकिन कप्तान कॉलिंगवुड और एओन मोर्गन ने मिलकर इंग्लैंड को यादगार और बहुप्रतीक्षित जीत दिला ही दी. इंग्लैंड ने 17 ओवर में तीन विकेट खोकर 148 रन बनाए और मैच जीत लिया.

फ़ाइनल में टॉस जीतते हुए इंग्लैंड ने पहले गेंदबाज़ी का फ़ैसला किया. ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही और सिर्फ़ 8 रन पर उसके तीन बल्लेबाज़ पैवेलियन लौट चुके थे. शेन वॉटसन, डेविड वॉर्नर और हैडिन का बल्ला इस अहम मैच में थम गया. तीन विकेट गिरने के बाद कप्तान माइकल क्लार्क ने पारी को संभालने की कोशिश की और वह कुछ सफल भी हुए. लेकिन रनगति बेहद धीमी रही और दस ओवर में ऑस्ट्रेलिया ने 4 विकेट खोकर 47 रन बनाए थे.

पाकिस्तान के ख़िलाफ़ सेमीफ़ाइनल मैच में डेविड हसी के भाई माइकल हसी ने अविस्मरणीय पारी खेली थी और ऑस्ट्रेलिया को जीत के दर्शन कराए थे. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया की बागडोर थामने की ज़िम्मेदारी डेविड हसी की थी और उन्होंने 59 रन की ठोस पारी खेल कर इंग्लैंड के सामने संघर्षपूर्ण लक्ष्य रखने का प्रयास किया.

क्लार्क 27 रन बनाकर आउट हुए तो डेविड हसी को कैमरन व्हाइट का साथ मिला जिन्होंने 30 रन बनाए. ऑस्ट्रेलिया ने निर्धारित 20 ओवर में इंग्लैंड के सामने 6 विकेट पर 147 रन बनाए.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: महेश झा

संबंधित सामग्री