1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वर्ल्ड कप जीतना है धोनी का सपना

टी20 वर्ल्ड कप को अपनी कप्तानी में जीत चुके महेंद्र सिंह धोनी अब पचास ओवरों के वर्ल्ड कप पर नजरें गड़ाए हैं. धोनी ने कहा कि विश्व कप की ट्रॉफी वह अपने हाथों में उठाना चाहेंगे क्योंकि यही हर क्रिकेटर का सपना होता है.

default

पहली बार टी20 वर्ल्ड कप 2007 में दक्षिण अफ्रीका में खेला गया और फाइनल में धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम ने पाकिस्तान को हरा कर खिताब अपने नाम किया. धोनी कहते हैं कि उनकी दिली तमन्ना है कि इस साल होने वाले वर्ल्ड कप पर भारत का कब्जा हो और खिलाड़ी क्रिकेट प्रशंसकों को यह तोहफा दें.

"भारतीय ड्रेसिंग रूम में हर कोई ट्रॉफी अपने हाथ में उठाना चाहता है. सिर्फ अपने लिए नहीं बल्कि करोड़ों प्रशंसकों के लिए जो दुनिया भर में फैले हैं. वर्ल्ड कप जितना और कोई बड़ा आयोजन नहीं है."

Indischer Cricketspieler Sachin Tendulkar

धोनी के मुताबिक हर क्रिकेटर का सपना होता है कि वह वर्ल्ड कप में अपने देश का प्रतिनिधित्व करे और करियर में एक बार इस ट्रॉफी को जीते. इसके लिए कड़ी मेहनत, आत्मविश्वास और सकारात्मक रवैये की जरूरत होती है और भारतीय टीम बढ़िया क्रिकेट खेलने में सक्षम है.

भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश की संयुक्त मेजबानी में हो रहे वर्ल्ड कप में अब सिर्फ 50 दिन बचे हैं. पिछले वर्ल्ड कप में भारत का प्रदर्शन खराब रहा था और लीग मुकाबले में उसे बांग्लादेश के हाथों हार का सामना करना पड़ा और वह फिर सुपर 8 में भी नहीं पहुंच पाया.

धोनी के मुताबिक वर्ल्ड कप शुरू होने में अब दो महीने से भी कम समय रह गया है और वह रोमांच को अभी से महसूस कर सकते हैं. "आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 शुरू होने में सिर्फ 50 दिन बचे हैं. मैं महसूस कर सकता हूं कि लोगों में रोमांच है और खिलाड़ी भी बेसब्री से इसका इंतजार कर रहे हैं. जल्द ही वर्ल्ड कप का खुमार क्रिकेट जगत को अपने लपेटे में ले लेगा."

भारतीय टीम की तैयारियों पर धोनी ने बताया कि टीम में संतुलन और सामंजस्य बेहतर हुआ है और खिलाड़ी एक दूसरे को मदद करने के लिए तत्पर हैं. हाल के दिनों में भारत ने शानदार क्रिकेट खेली है जिससे उसका आत्मविश्वास बढ़ा है.

लेकिन धोनी आगाह करते हैं कि टीम इंडिया को सही मौके पर अपना प्रदर्शन बेहतर करने की जरूरत है क्योंकि वर्ल्ड की चुनौती काफी बड़ी है. भारत फिलहाल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेल रहा है. दोनों टीमें एक एक टेस्ट जीत चुकी हैं और तीसरा और आखिरी टेस्ट रविवार से केपटाउन में शुरू होना है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

DW.COM