1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वनडे के नए फॉर्मेट से सचिन खुश, ऑस्ट्रेलियाई नाखुश

ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेट के वनडे मैचों के नए रूप पर प्रयोग किए जा रहे हैं. नए फॉर्मेट में 45 ओवर होंगे और हर टीम को दो पारियां खेलनी होंगी. भारत के सचिन तेंदुलकर ने इसका स्वागत किया है, लेकिन सभी इससे खुश नहीं हैं.

default

भारतीय क्रिकेट स्टार सचिन तेंदुलकर ने वनडे मैचों के नए फॉर्मेट के प्रयोग का स्वागत किया है. एक भारतीय अखबार से बातचीत करते हुए सचिन ने कहा, "मुझे खुशी है कि ऑस्ट्रेलिया में नए फॉर्मेट का प्रयोग किया जा रहा है. एक बार खिलाड़ी इस फॉर्मेट में खेल लेंगे, तभी वह इसके बारे में फैसला लेने की स्थिति में होंगे."

सचिन ने माना कि नए फॉर्मेट में कुछ खूबियां हैं. उन्होंने कहा, "आज टॉस के बाद ही हम 75 फीसदी मैचों के नतीजे बता सकते हैं. लेकिन नया फॉर्मेट टॉस पर उतना ज्यादा आधारित नहीं है. क्योंकि जब दिन रात का मैच होगा तब हर टीम को फ्लड लाइट्स में बैटिंग करनी होगी."

उधर ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेटरों की एसोसिएशन ने वनडे क्रिकेट के नए फॉर्मेट पर आपत्ति जताई है. एसोसिएशन का कहना है कि नया फॉर्मेट समझ से बाहर है और इसे अपनाने से पहले खिलाड़ियों से बातचीत भी नहीं की गई.

ऑस्ट्रेलिया में वनडे क्रिकेट के नए रूप पर प्रयोग हो रहा है. इस नए रूप में वनडे मैचों में एक पारी के लिए ओवरों की संख्या 50 से घटकर 45 रह जाएगी. ऑस्ट्रेलिया में इस सीजन के 31 घरेलू मैच इस नए रूप में खेले जाएंगे. इसमें हर टीम दो पारियां खेलेगी. पहली पारी 20 ओवरों की होगी और दूसरी 25 ओवरों की.

लेकिन ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों का संगठन एसीए इस फॉर्मेट से खुश नहीं है. संगठन के प्रमुख पॉल मार्श ने शनिवार को स्थानीय मीडिया से बातचीत में कहा, "दो पारियों वाले वनडे मैचों के प्रयोग करने का क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का फैसला बिना खिलाड़ियों से बातचीत किए लिया गया. वे लोग जो खेलते हैं और खेल को जानते हैं, इस प्रक्रिया को समझ नहीं पा रहे हैं और काफी निराश हैं."

नए फॉर्मेट में हर गेंदबाज को 10 के बजाय 12 ओवर्स डालने को मिलेंगे. इसमें पहली इनिंग्स में लीड के आधार पर अवॉर्ड पॉइंट्स दिए जाएंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एन रंजन