1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वनडे के नए फॉर्मेट से खुश नहीं पोंटिंग

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया के घरेलू क्रिकेट में वनडे मैचों के फॉर्मेट में हुआ बदलाव वर्ल्ड कप में उनकी टीम की तैयारियों पर असर डाल सकता है.

default

पोंटिंग को लगता है कि बदलाव को लागू करने से पहले बोर्ड को खिलाड़ियों से और ज्यादा बात करनी चाहिए थी. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने पिछले महीने घरेलू मैचों में वनडे के नए फॉर्मेट को अपनाने की घोषणा की. इसके मुताबिक अब मैच में दो-दो पारियां होंगी. 20 और 25 ओवरों की ये पारियां दोनों टीमें टेस्ट मैचों की तर्ज पर खेलेंगी.

इस बारे में पोंटिंग ने कहा कि उनकी चिंता वर्ल्ड कप के लिए तैयारियों को लेकर है. जो खिलाड़ी इस वक्त राष्ट्रीय टीम से बाहर हैं, उनके खेल पर नए फॉर्मेट का असर हो सकता है. वर्ल्ड कप अगले साल फरवरी में भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश में खेला जाएगा.

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा, "जब वर्ल्ड कप में इतना कम वक्त बचा है तो हमें ज्यादा से ज्यादा 50 ओवरों के मैच खेलने चाहिए. जो खिलाड़ी इस वक्त टीम में शमिल हैं, उन्हें तो दिक्कत नहीं होगी क्योंकि वर्ल्ड कप से पहले उन्हें 12-13 मैच खेलने का मौका मिल जाएगा. लेकिन वे खिलाड़ी जो टीम में आने के लिए तैयार बैठे हैं और घरेलू क्रिकेट खेल रहे हैं, उन्हें तो 50 ओवरों का एक भी मैच खेलने को नहीं मिलेगा."

पोंटिंग ने कहा कि खासतौर पर देश के नौजवान स्पिनरों को काफी दिक्कत होगी. उन्होंने माना कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से खिलाड़ियों को और ज्यादा जानकारी मिलनी चाहिए थी. पोंटिंग ने कहा, "खिलाड़ियों को शायद लगता है कि उन्हें उतनी जानकारी नहीं मिली, जितनी मिलनी चाहिए थी." ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों की एसोसिएशन ने क्रिकेट के इस नए फॉर्मेट की आलोचना की है. एसोसिएशन के चीफ एग्जेक्यूटिव पॉल मार्श ने कहा कि खिलाड़ियों से सलाह मशविरा नहीं किया गया.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links