1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

वजन के कारण ले जाने को तैयार नहीं हैं एयरलाइंस

हैती की एक महिला को अमेरिका जाने के लिए ग्यारह दिनों तक हवाई अड्डे पर इंतज़ार करना पड़ा क्योंकि कोई एयरलाइंस उसे हैती से अमेरिका ले जाने को तैयार नहीं था. मामला असल में उनके वजन से जुड़ा है.

default

11 दिनों तक एक विमान के इंतजार में

यह घटना घटी सांतो डोमिंगो हवाई अड्डे पर हुई जहां काफी वर्षों से अमेरिका में रहने वाली डोमिनिक़ लानोस ग्यारह दिनों तक डटी रही कि आखिर कोई तो एयरलाइंस उसे ले जाने को तैयार होगा. लेकिन डोमिनिक को ले जाने को कौई एयरलाइंस तैयार नहीं था. कारण था डोमिनिक का वजन जो 220 किलोग्राम है.

अब भारी भरकम डोमिनिक की मदद को डोमिनिकन रिपब्लिकन की सेना आई है. एक स्थानीय दैनिक ने ख़बर दी है कि गुरुवार को उसे लेकर वायुसेना का एक विमान अमेरिका के मियामी शहर जाएगा. यात्रा के दौरान वह व्हील चेयर पर बैठेगी.

डोमिनिक लानोस ने पत्रकारों को बताया कि उसके सात बच्चे मियामी में हैं लेकिन हैती में अब उसका कोई नहीं बचा है. सभी सगे संबंधी इस साल जनवरी में आए भूकंप में मारे गए. वह पिछले साल एक निजी विमान में हैती आई थी और एक दुर्घटना में पांव टूट जाने के बाद से उसे व्हील चेयर का सहारा लेना पड़ रहा है.

अल दियारो लिब्रे दैनिक के अनुसार डोमिनिक को हैती से सांतो डोमिंगो तक एक छोटे विमान के पिछले हिस्से में बिस्तर पर लिटा कर लाया गया.

रिपोर्ट: डीपीए/महेश झा

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री