1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

वजनी ड्राइवर फॉर्मूला 1 से बाहर!

फर्राटा की सबसे लोकप्रिय रेस फॉर्मूला वन में नया फॉर्मूला तैयार हो रहा है. हो सकता है कि अगले साल से लंबे और वजनी ड्राइवरों को बाहर होना पड़े. बात इतनी आगे बढ़ चुकी है कि इस पर दोबारा विचार भी मुमकिन नहीं लग रहा है.

साल 2014 से कार और ड्राइवर को मिला कर कुल वजन की सीमा 642 से बढ़ा कर 690 किलो कर दी गई है. लेकिन कारों में टर्बो इंजन लगाने के लिए बहुत से बदलाव करने होंगे और इसकी वजह से उनका औसत वजन 50 किलो बढ़ जाएगा. इसका मतलब कि कुल मिला कर ड्राइवरों के वजन को ही कम करना होगा.

हालांकि कानूनी तौर पर इसके बाद भी थोड़ा ऊपर नीचे हो सकता है लेकिन कंपनियां चाहेंगी कि वे इस सीमा के जितना करीब हो सकें या रहें क्योंकि हर अतिरिक्त किलोग्राम का मतलब हर राउंड में सेकंड के तीन सौवें हिस्से का नुकसान. और फॉर्मूला वन की रेसों में हार जीत इसी बारीक अंतर से तय होती है.

कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि जॉबर के लोकप्रिय ड्राइवर निको हुलकेनबर्ग को अगले साल फरारी में शायद जगह न मिल पाए क्योंकि लंबे हुलकेनबर्ग 78 किलोग्राम के हैं, उनका वजन जरा ज्यादा लग रहा है. रेड बुल के टीम प्रिंसिपल क्रिस्टियान होर्नर का कहना है कि यह मामला बताता है कि इस पर दोबारा विचार करने की जरूरत है, "सैद्धांतिक तौर पर हमारे लिए यह समस्या नहीं है क्योंकि हमारे दोनों ड्राइवर इस सीमा से कम पर हैं." रेड बुल के लिए वर्ल्ड चैंपियन सेबास्टियन फेटल और मार्क वेबर कार चलाते हैं.

हालांकि रेड बुल के दूसरे ड्राइवर ऑस्ट्रेलिया के मार्क वेबर ने कहा है कि वह इस सीजन के बाद वह टीम में नहीं रहेंगे. ऐसे में टीम हुलकेनबर्ग के नाम पर विचार नहीं कर सकती है. वेबर खुद भी लंबे ड्राइवर हैं.

मैक्लैरेन के टीम प्रिंसिपल मार्टिन व्हिटमार्श का कहना है कि फॉर्मूला वन में जरूरत से ज्यादा प्रतियोगिता होती जा रही है, "अब टीमों को वजन वाले मुद्दे पर तेजी से काम करना होगा क्योंकि हर टीम अपना फायदा देखना चाहेगी." उनका कहना है कि हो सकता है कि एक दो साल तक वजनी ड्राइवरों से नुकसान हो.

वेबर और मैक्लैरेन के जेनसन बटन जैसे लंबे ड्राइवरों पर लगातार इस बात का दबाव रहता है कि वे अपना वजन कम रखें. वेबर का कहना है कि नए नियम से लंबे ड्राइवरों पर और दबाव बन सकता है.

एजेए/ओएसजे (एपी)

DW.COM

WWW-Links